चुनाव

  • bjp-up
    फिर राम मन्दिर राग – वीरेन्द्र जैन
    Posted in: उत्तर प्रदेश, चुनाव

    फिर राम मन्दिर राग ——- वीरेन्द्र जैन ——- अब तक यह बात बहुत साधारणजन को भी समझ में आ चुकी है कि अयोध्या में राम मन्दिर निर्माण से वोटों की राजनीति का क्या और कैसा सम्बन्ध है, फिर भी भाजपा ने चौदहवीं बार अपने घोषणापत्र में राम मन्दिर का मुद्दा उछाल कर बची खुची भावनाओं […]

  • muslim-vote-bsp
    बसपा की दलित-मुस्लिम एकता की असलियत – हरे राम मिश्र
    Posted in: उत्तर प्रदेश, चुनाव

    बसपा की दलित-मुस्लिम एकता की असलियत —— हरे राम मिश्र ——– बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने हाल ही में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आतंकवाद के नाम पर देश में अल्पसंख्यक समुदाय को शक की नजर से देखा जाना वास्तव में केन्द्र की भारतीय […]

  • akhilesh_rahul
    भारत का सुनहरा भविष्य दो युवाओं के हाथ
    Posted in: चुनाव

    भारत का सुनहरा भविष्य दो युवाओं के हाथ —— अलका गंगवार ——- राहुल गांधी और अखिलेश  यादव के उत्तर प्रदेश  के गठबंधन को लेकर जो शंका  और आशंका  देखी जा रही थी वह लखनऊ प्रेस कान्फ्रंेस के बाद काफूर हो गयी है। यह एक ऐतिहासिक क्षण है जो एक सुनहरे भविष्य की और संकेत कर […]

  • bjp-up
    उत्तरप्रदेश चुनाव 2017: भाजपा का विघटनकारी एजेंडा – राम पुनियानी
    Posted in: उत्तर प्रदेश, चुनाव

    उत्तरप्रदेश चुनाव 2017: भाजपा का विघटनकारी एजेंडा —— राम पुनियानी ——- उत्तरप्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव, न केवल भाजपा, कांग्रेस, सपा, बसपा आदि जैसे राजनीतिक दलों के लिए महत्वपूर्ण हैं वरन देश में धर्मनिरपेक्षता और प्रजातंत्र के भविष्य का निर्धारण करने में भी इस चुनाव की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।  राष्ट्रीय परिदृश्य पर भाजपा का उदय, राममंदिर […]

  • Voters show their voter identity cards as they wait for their turn to cast their ballot during the Madhya Pradesh state assembly election, at a polling booth in Bhopal November 27, 2008. REUTERS/Raj Patidar (INDIA)
    टैक्टिकल वोटिंग के फायदे नुकसान – हरे राम मिश्र
    Posted in: उत्तर प्रदेश, चुनाव

    टैक्टिकल वोटिंग के फायदे नुकसान —– हरे राम मिश्र —— उत्तर प्रदेश के राजनैतिक गलियारों में ऐसी चर्चा है कि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच चुनावी गठबंधन होने के बाद बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती काफी परेशान दिखाई दे रही हैं। समाजवादी कुनबे में मचे ’घमासान’ के दौरान मायावती द्वारा जिस मुस्लिम-दलित समीकरण के […]

  • 0a64d7f7f0_votecampain
    एक दिवस मतदाता-जागरूकता के नाम
    Posted in: चुनाव, लोकतंत्र

    एक दिवस मतदाता-जागरूकता के नाम —– डॉ0गीता गुप्त —— लोकतान्त्रिक प्रणाली में मतदान का बहुत महत्त्व है. इसके माध्यम से जनता शासन-व्यवस्था में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकती है लेकिन भारत में यह अनिवार्य नहीं है. लोकतन्त्र की सुदृढ़ता हेतु आदर्श यही है कि प्रत्येक वयस्क नागरिक चुनावों में मतदान करे.परन्तु विडम्बना यह है कि […]

  • 1733_l_democracy-l
    चुनावी राजनीति बनाम भारतीय लोकतंत्र
    Posted in: चुनाव

    चुनावी राजनीति बनाम भारतीय लोकतंत्र —– जावेद अनीस —— जिस रोज भारत का सर्वोच्च न्यायालय फैसला दे रहा था कि धर्म, जाति, समुदाय, भाषा के नाम पर वोट मांगना गैरकानूनी है उसी दिन लखनऊ में बीजेपी की रैली थी और वहां उत्तर प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य “जय श्री राम” का नारा लगाते हुए […]

  • assembly-polls-evm-pti_650x400_61463367015
    पांच राज्यों में बजा चुनाव का बिगुल
    Posted in: चुनाव

    पांच राज्यों में बजा चुनाव का बिगुल ——- अवधेश कुमार ——- तो चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के चुनाव का बिगुल बजा दिया। नोटों का वापसी के बाद यह पहला चुनाव है। इसलिए भी इसका महत्व है, क्योंकि कुछ लोग इसे नोटवापसी पर जनता की राय के रूप में देखेंगे। देश के करीब 16 करोड़ […]

  • supreme-court-l-ie
    धर्म के अंसैवाधानिक चुनावी प्रयोग पर अंकुष
    Posted in: चुनाव, न्यायपालिका

    धर्म के अंसैवाधानिक चुनावी प्रयोग पर अंकुष —– प्रमोद भार्गव —— सर्वोच्च न्यायालय की सात सदस्यीय पीठ के ताजा फैसले से राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों को धर्म, जाति, नस्ल, समुदाय और भाशा के आधार पर वोट मांगना मुष्किल होगा। वोट मांगे तो उम्मीदवारी को अंसैवाधानिक ठहराया जा सकता है ? हालांकि ऐसा तभी संभव होगा […]

  • up-politics
    उप्र का घटनाक्रम और कुछ बुनियादी सवाल
    Posted in: उत्तर प्रदेश, चुनाव, राजनीति

    वीरेन्द्र जैन उत्तरप्रदेश सरकार में गत दिनों जो कुछ चला, वह एक पार्टी या एक प्रदेश सरकार के संकट से अधिक, ऐसे संकटों की जड़ों को समझने की जरूरत बताता है। देश की विभिन्न सरकारों, विभिन्न दलों, और लोकतंत्र के विभिन्न स्तम्भों के बीच लगातार ऐसे ही टकराव चल रहे हैं जो कभी सतह पर […]

  • Lalu Nitish
    घमंड हारा, सादगी जीती
    Posted in: चुनाव

    ——–डॉ. महेश परिमल——– बिहार चुनाव के बाद यह साफ हो गया है कि वहां यदि कुछ हारा है, तो वह है घमंड और जीता है, तो वह है आम आदमी। बिहार की जनता को मूर्ख मानना ही सबसे बड़ी मूर्खता साबित हुई। बिहार की जनता ने बता दिया कि हम आपका भाषण सुन तो लेंगे, […]

  • myanmar election
    म्यांमार में लोकतंत्र की उड़ान
    Posted in: चुनाव, विश्व जगत

    ——-अरविंद जयतिलक——— म्यांमार में 25 वर्ष बाद स्वतंत्र रुप से संपन्न हुए चुनाव में लोकतंत्र समर्थक नेता आंग सान सू की पार्टी नेशनल लीग फाॅर डेमोक्रेसी (एनएलडी) की बढ़त और सैन्य समर्थित सत्ताधारी यूनियन साॅलिडरेट एंड डवलपमेंट पार्टी (यूएसडीपी) द्वारा हार स्वीकारने के बाद म्यांमार में लोकतंत्र के परवान चढ़ने की उम्मीद बढ़ गयी है। […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in