पर्यावरण

  • kelp-forest
    समुद्रों के बारे में कुछ नया सोचिये – शब्बीर कादरी
    Posted in: पर्यावरण

    समुद्रों के बारे में कुछ नया सोचिये — शब्बीर कादरी — ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन जैसे शब्द अब विश्व के अधिकांश लोगों को इसलिए समझ आने लगे हैं कि इससे हमारे परिस्थितिकी तंत्र पर बुरी तरह प्रभाव पड़ने लगा है। अमेरिका, मेक्सिको, जापान में हाल ही में आए भीषण तूफान और कई देशों सहित […]

  • 38993041
    पहाड बनता प्लास्टिक अपशिष्ट ? – प्रभुनाथ शुक्ल
    Posted in: पर्यावरण, प्रदूषण

    पहाड बनता प्लास्टिक अपशिष्ट ? —— प्रभुनाथ शुक्ल ——- आर्थिक उदारीकरण और उपभोक्तावाद की संस्कृति ने महानगरों से निकले वाले अपशिष्ट को पहाड़ के ढे़र में बदल दिया है। मानव सभ्यता के लिए यह खतरे की घंटी है। अभी तक वारिश और भूस्खलन की वजह से पहाड़ों का खींसकना और यातायाता का प्रभावित होना आम […]

  • jhum_cultivation_in_nokrek_biosphere_reserve_meghalaya_india_northeast_india_2004
    हरियाली भी हो हमारी चिंता में – शब्बीर कादरी
    Posted in: पर्यावरण

    हरियाली भी हो हमारी चिंता में —- शब्बीर कादरी —- यह सच है कि विकास योजनाओं के क्रियान्वयन में हरियाली को सदैव ही रौंदा गया है। यही कारण है कि हरियाली हमारे देश में पक्के निर्माण की तुलना में तेजी से पिछड़ी हैं जबकि बढ़ती आबादी और ग्रीन हाउस गैसों की तुलना में इस पर […]

  • kids-play-dirt
    स्वच्छता से सावधान! बच्चों को मिट्टी में खेलने दें – प्रमोद भार्गव
    Posted in: पर्यावरण, बच्चे

    संदर्भ- अमेरिका के वैज्ञानिक जैक गिलबर्ट का बच्चों पर किए शोध का नतीजा- स्वच्छता से सावधान! बच्चों को मिट्टी में खेलने दें —— प्रमोद भार्गव —— भारत ही नहीं दुनिया के प्रत्येक माता-पिता अपने बच्चों को साफ-सुथरा, सुरक्षा व कीटाणु रहित वातावरण देना चाहते हैं, जिससे उनके बच्चे गंदगी की चपेट में आकर बीमार न […]

  • illegal-mining-759
    त्राहि त्राहि नर्मदे – जावेद अनीस
    Posted in: पर्यावरण, मध्य प्रदेश

    त्राहि त्राहि नर्मदे —– जावेद अनीस —– हम पुराने समय से ही कर्मकांड करने में माहिर रहे हैं जिसमें से ज्यादातर का मकसद खुद का कल्याण करना होता था. इधर मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार भव्य कर्मकांड आयोजित करने में बहुत आगे साबित हुई हैं. इसकी ताजा कड़ी “नमामि नर्मदे यात्रा”” है नर्मदा सेवा के नाम […]

  • trump-climate
    सवाल अकेले पर्यावरण की सुरक्षा का नहीं, दुनिया को बचाने का भी – जाहिद खान
    Posted in: पर्यावरण, विश्व जगत

    सवाल अकेले पर्यावरण की सुरक्षा का नहीं, दुनिया को बचाने का भी —- जाहिद खान —– अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाल ही में एक अप्रत्याशित फैसला लेते हुए ऐतिहासिक पेरिस जलवायु समझौते से बाहर निकलने का एलान कर दिया है। इस फैसले से पीछे हटने पर अमेरिका की दलील है कि ‘‘पेरिस समझौता, […]

  • dc-cover-knl2j47ihrqs1rcjv0fli7ji10-20170110162950-medi
    रीत रहा पाताल – शब्बीर कादरी
    Posted in: जल सँरक्षण, पर्यावरण, पानी

    रीत रहा पाताल —– शब्बीर कादरी —— सदियों से हमारे यहां धरती के नीचे का पानी ऐसी सर्वसुलभ सुविधा के रूप में उपलब्ध है जिसका उपयोग सुगमता से किया जाता रहा हैं, कुंए बावड़ियां, तालाब और बांध का निर्माण हमारी सांस्कृतिक परम्परा में शामिल रहे हैं। सिर्फ छह-सात दशक तक हमारे पास घने जंगल थे […]

  • global-warming-nh
    तपती धरती पिघलता जीवन – शब्बीर कादरी
    Posted in: पर्यावरण

    तपती धरती पिघलता जीवन  —– शब्बीर कादरी —– ग्रीष्मकाल की पहचान यूं तो गर्मी के लिए होती हैै पर पिछले कुछ दशक से इस मौसम में भारत सहित विश्व के अधिकांश शहरों में बढ़ते हुए तापमान ने मौसम विज्ञानियों को चैकन्ना कर दिया है, इस तापमान ने अपना रौद्र रूप दिखाकर कई मनुष्यों और पशुओं को […]

  • toxic-waste
    लगातार मरने को मजबूर गैस पीड़ित
    Posted in: पर्यावरण

    लगातार मरने को मजबूर गैस पीड़ित —- शब्बीर कादरी —– हाल ही में भापाल स्थित यूका परिसर में पड़े अनेक जहरीले रसायन के भस्मीकरण की एक खबर फिर आई है ऐसी खबरें और योजनाऐं पहले भी कई बार सुनी और पढ़ी गई हैं, दिसम्बर 84 में विश्व की भीषण त्रासदी के बाद से ही यूका […]

  • stephen-hawking
    स्टीफन हाॅकिंग की चेतावनी को समझने की जरूरत
    Posted in: पर्यावरण

    स्टीफन हाॅकिंग की चेतावनी को समझने की जरूरत —— प्रमोद भार्गव —— ब्रिटिष भौतिक विज्ञानी स्टीफन हाॅकिंग ने मानव अस्त्वि के खतरे से जुड़े व्यापक पर्यावरणीय परिप्रेक्ष्य में जो चेतावनी दी है, उसे गंभीरता से लेने की जरूरत है। हाॅकिंग ने कहा है कि मानव समुदाय इतिहास के सबसे खतरनाक समय का सामना कर रहा […]

  • leopard-killed-india
    शहरी कांक्रीट में भटकते जंगली जानवर
    Posted in: पर्यावरण, समाज

    शहरी कांक्रीट  में भटकते जंगली जानवर —— जावेद अनीस —— ऐसा लगता है कि अपनी रिहाईश को लेकर  इंसान और जंगली जानवरों के बीच जंग सी छिड़ी हुई है. जंगल नष्ट हो रहे हैं और वहां रहने वाले शेर चीते और तेंदुए जैसे शानदार जानवर कंक्रीट के आधुनिक जंगलों में बौखलाए हुए भटक रहे हैं. […]

  • rain1
    न मानसून बदला है और न हम
    Posted in: पर्यावरण

    बादल जब आते हैं, झमाझम या रिमझिम बरसते हैं, तब केवल वन-उपवन का मयूर ही नहीं, हमारा मन-मयूर भी नाच उठता है। दिल दुआ करता है, प्रार्थनाएं गूंज उठती हैं। काश, हर बार होती अच्छी बारिश और छोड़ जाती अपने पीछे अनगिनत हसीन किस्से हमारी खुशी और तरक्की के, लेकिन जब बारिश लाने वाला मानसून […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in