दलित

  • valmiki_joothan
    निशाने पर ‘‘जूठन’ – सुभाष गाताडे
    Posted in: दलित

    पेरूमल मुरूगन, सोवेन्द्र हांसदा शेखर और अब ओमप्रकाश वाल्मिकी निशाने पर ‘‘जूठन’ — सुभाष गाताडे — ‘तुम्हारी महानता मेरे लिए स्याह अंधेरा है,, मैं जानता हूं,/मेरा दर्द तुम्हारे लिए चींटी जैसा/ और तुम्हारा अपना दर्द पहाड़ जैसा इसलिए, मेरे और तुम्हारे बीच/ एक फासला है/जिसे लम्बाई में नहीं/समय से नापा जाएगा। – ओमप्रकाश वाल्मिीक (जूता) […]

  • bheema-koragaon-national-janmat
    भीमा कोरेगांव: ऐतिहासिक नायकों की तलाश में दलित – राम पुनियानी
    Posted in: दलित

    भीमा कोरेगांव: ऐतिहासिक नायकों की तलाश में दलित — राम पुनियानी — महाराष्ट्र के कोरेगांव में एक जनवरी 2018 को उन दलित सिपाहियों, जो सन् 1818 में पेशवा के खिलाफ युद्ध में अंग्रेजों की ओर से लड़ते हुए मारे गए थे, को श्रद्धांजलि देने के लिए इकट्ठा हुए दलितों के खिलाफ अभूतपूर्व हिंसा हुई।  सन् […]

  • bhima
    महाराष्ट्र की जातीय हिंसा को कैसे समझें – अवधेश कुमार
    Posted in: जाति प्रथा, दलित

    महाराष्ट्र की जातीय हिंसा को कैसे समझें —- अवधेश कुमार —– अचानक महाराष्ट्र जिस तरह जातीय तनाव और हिंसा की चपेट में आया वह हर देशवासी को चिंतित करने वाला है। किसी हिंसा के खतरनाक होने का आकलन इस आधार पर मत करिए कि उसमें कितने मारे गए और कितने घायल हुए। जिस तरह पुणे […]

  • caste-syste
    जाति और सामाजिक समरसता का भ्रमजाल – नेहा दाभाड़े
    Posted in: जाति प्रथा, दलित

    जाति और सामाजिक समरसता का भ्रमजाल —- नेहा दाभाड़े —- ऊँची जाति के कुछ लोगों ने भदरानिया, गुजरात के जयेश सौलंकी की इस माह की शुरूआत में हत्या कर दी गई। उनका दोष यह था कि वे ऊँची जातियों द्वारा आयोजित एक गरबा कार्यक्रम देखना चाहते थे। उनका सिर दीवार से टकरा-टकरा कर उनकी जान ले […]

  • bheem-sena
    दलितों का स्वतंत्रता आन्दोलन शुरू होता है अब … वीरेन्द्र जैन
    Posted in: दलित

    दलितों का स्वतंत्रता आन्दोलन शुरू होता है अब … —- वीरेन्द्र जैन —- देश की अंग्रेजों से स्वतंत्रता चाहने वाले दूसरे लोगों की तरह स्वतंत्रता आन्दोलन में अम्बेडकर अंग्रेजों से तुरंत आज़ादी के पक्षधर इसलिए नहीं थे क्योंकि उस मांग में दलितों को सवर्णों की गुलामी से मुक्ति पाने की स्पष्टता नहीं थी। उनका सही […]

  • dalit-boy_e697fdca-015c-11e6-859d-3d3bb55f49d3
    ह्रदय प्रदेश में दलित – जावेद अनीस
    Posted in: दलित, मध्य प्रदेश

    ह्रदय प्रदेश में दलित — जावेद अनीस — अपने आजादी के 71वें साल में जून की एक आधी रात को संसद के सेंट्रल हॉल में बुलाये गये एक  विशेष सत्र में इस बात की आधिकारिक घोषणा कर दी गयी है कि भारत “एक बाजार” हो गया है,वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की लॉन्चिंग के दौरान दिये गये […]

  • dalits
    प्रधानमंत्री द्वारा की गई गौरक्षकों की कड़ी निंदा – शैलेन्द्र चौहान
    Posted in: दलित

    प्रधानमंत्री द्वारा की गई गौरक्षकों की कड़ी निंदा —— शैलेन्द्र चौहान —— गौरक्षकों द्वारा अल्पसंख्यकों पर की जा रहीं जघन्य क्रूरताओं के लिए हमारे प्रधानमंत्री कभी कभी चिंतित होते हैं, इसे रोकने की सलाह भी देते हैं और चेतावनी भी. कड़ी निंदा भी करते हैं. लेकिन गौरक्षक हैं कि इसे शाबासी समझते हैं और विधर्मियों […]

  • university-students
    जुबां पर भीमा या भीम, अमल में मनु – सुभाष गाताडे
    Posted in: छात्र, दलित

    जुबां पर भीमा या भीम, अमल में मनु —– सुभाष गाताडे —–   लोगों के दुख एवं परेशानियां असीमित हैं और उन्हें कोई कैसे सहन कर सकता है मेरी आत्मा को नरक में भेज दो मगर ब्रहमांड को मुक्ति दे दो – भीमा भोई भीमा भोई, सन्त, कवि और समाज सुधारक, जो उन्नीसवीं सदी के […]

  • rohith_dacad964-010a-11e7-abb0-ce03674c2ba4
    भीम ऑटो पर राधिका वेमुला – सुभाष गाताडे
    Posted in: दलित

    भीम ऑटो पर राधिका वेमुला —– सुभाष गाताडे —— मार्च महिन के मध्य से एक अलग ढंग की यात्रा तेलंगाणा और आंध्र प्रदेश की सड़कों पर निकलेंगी। यात्रा एक नीले रंगे के पिकअप टरक ;जतनबाद्ध पर चलेगी – जिसे भीम आटो के नाम से संबोधित किया जा रहा है – और जिसमें अपने बेटे के […]

  • mandsaur
    कैसे रुकें “मंदसौर” जैसी घटनायें
    Posted in: दलित, सांप्रदायिकता

    हाल के दिनों में गौरक्षा के नाम पर दलितों और अल्पसंख्यकों पर हमले और उन्हें आतंकित के मामले बढ़े हैं. इसी कड़ी में पिछले दिनों मध्यप्रदेश के मंदसौर रेलवे स्टेशन पर तथाकथित गौरक्षकों की बेलगाम गुंडई एक बार फिर देखने को मिली जहाँ गौ-मांस ले जाने के आरोप में दो मुस्लिम महिलाओं को सरेआम पीटा […]

  • गुजरात में दलितः असमानता और हिंसा के शिकार
    Posted in: दलित, सांप्रदायिकता

    गत 11 जुलाई को गुजरात के ऊना शहर में ‘मानव भक्षकों’ व ज़बरिया वसूली करने वालों के गिरोह ने-जो स्वयं को गौरक्षक बता रहे थे-एक दलित परिवार के सात सदस्यों की क्रूरतापूर्वक पिटाई की। उन्हें मोटा समधियाला गांव में एक मरी हुई गाय की खाल उतारने के लिए लोहे की छड़ों, लाठियों और चाकू से […]

  • dr_1
    अंबेडकर और राष्ट्रवाद
    Posted in: करेंट अफेयर्स, दलित, राजनीति, सांप्रदायिकता

    जिन राजनैतिक दलों ने डॉ. बाबासाहब अंबेडकर के समानता, सामाजिक न्याय, स्वतत्रंता और बंधुत्व के एजेण्डे को सुनियोजित ढंग से कमज़ोर किया, वे ही दल राजनैतिक लाभ के लिए बाबासाहब का 125वां जन्मदिवस धूमधाम से मना रहे हैं.. दरअसल, वे बाबासाहब की विरासत पर कब्ज़ा करना चाहते हैं और अंबेडकर को अपने राजनैतिक मंतव्यों के […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in