किसान

  • dbubroguqaeadge
    कॉर्पोरेट को सब्सिडी तो किसान को क्यों नहीं ? – अब्दुल रशीद
    Posted in: किसान

    कॉर्पोरेट को सब्सिडी तो किसान को क्यों नहीं ? —— अब्दुल रशीद —— भारत कृषि प्रधान देश है लेकिन इस देश के किसान कि हालत बद से बत्तर होती जा रही है यह भी एक कड़वा सच है. पुरे देश में किसान अपने बदहाली से मुक्त होने के लिए आन्दोलन कर रहें हैं. तमिलनाडु के […]

  • shivraj
    आखिर किसानों को गुस्सा क्यों आया ? – प्रमोद भार्गव
    Posted in: किसान

    आखिर किसानों को गुस्सा क्यों आया ? —– प्रमोद भार्गव —– हाल ही में सरकारी स्तर पर सामने आई जानकारी से पता चला है कि सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर 6.1 फीसदी रह गई है। अलबत्ता लंबे समय से संकटग्रस्त रहे कृषि क्षेत्र  में बढ़त दर्ज की गई है। तीसरी तिमाही में कृषि विकास दर […]

  • An Indian farmer looks skyward as he sits in his field with wheat crop that was damaged in unseasonal rains and hailstorm at Darbeeji village, in the western Indian state of Rajasthan, Friday, March 20, 2015. Recent rainfall over large parts of northwest and central India has caused widespread damage to standing crops. (AP Photo/Deepak Sharma)
    भारत में किसानों की आत्महत्या – शैलेन्द्र चौहान
    Posted in: किसान, गरीबी, समाज

    भारत में किसानों की आत्महत्या —— शैलेन्द्र चौहान —— इक्कीसवी सदी का दूसरा दशक. यदि हम इस दशक पर दृष्टिपात करें तो  इस दशक में सदी की सबसे बड़ी घटना विकास दर के बजाय किसानों की आत्महत्या के दर में वृध्दि रही, और इससे बड़ा शर्मनाक पहलू यह है कि चुनावी मुद्दों की राजनीति में आकर्षण का केंद्र किसान है। […]

  • potato
    समर्थन और विरोध के तर्कों के बीच जीएम फसलें
    Posted in: किसान, खेती

    जीएम फसलों पर अभी तक संशय बरकरार -शशांक दिवेदी डिप्टी डायरेक्टर (रिसर्च), मेवाड़ यूनिवर्सिटी ,राजस्थान जीएम (जेनेटिकली मॉडिफाइड) फसलों का मामला एक बार फिर सुर्खियों में है । पिछले दिनों जीएम प्रौद्योगिकी के आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, स्वास्थ्य तथा पर्यावरण संबंधी प्रभावों पर देश की की सात संस्थाओं ने मिल कर व्यापक अध्ययन किया है और […]

  • india_farmer_1_500_x_333
    अलग से बने कृषि बजट और कृषि सेवा
    Posted in: किसान, खेती

    ——सुनील अमर——– देश की 58 प्रतिशत आबादी को रोजगार तथा लगभग समूची आबादी को भोजन उपलब्ध कराने वाली भारतीय कृषि की दयनीय हालत का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि इसके लिए अलग से बजट बनाने का प्राविधान नहीं है। देश में रेलवे के लिए अलग से बजट बन सकता है लेकिन खेती […]

  • landbill_pkg
    भूमि अधिग्रहणः देर आए,दुरूस्त आए
    Posted in: किसान, सरकार

    ——-प्रमोद भार्गव——— चैतरफा कड़े विरोध और प्रतिकूल राजनीतिक माहौल के चलते केंद्र सरकार ने आखिरकार विवादित भूमि अधिग्रहण अध्यादेश को समाप्त करने का फैसला ले लिया। फैसले की घोशणा खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आकाषवाणी पर प्रसारित होने वाले ‘मन की बात‘ कार्यक्रम में की। वास्तव में मोदी ने किसान-मजदूर के दिल की बात पहली […]

  • 1258990759629-farmer
    अन्नदाता से मजदूर में तब्दील होता किसान
    Posted in: किसान, खेती

    ——-जगजीत शर्मा——— देश का अन्नदाता भूखा है। उसके बच्चे भूखे हैं। भूख और आजीविका की अनिश्चितता उसे खेती किसानी छोड़कर मजदूर या खेतिहर मजदूर बनने को विवश कर रही है। विख्यात कथाकार मुंशी प्रेमचंद की प्रसिद्ध कहानी ‘पूस की एक रात’ का ‘हल्कू’ आज भी इस निर्मम और संवेदनहीन व्यवस्था का एक सच है। यह […]

  • sugarmill--621x414
    मिलों पर केन्द्र-राज्य दोनों मेहरबान, गन्ना किसान हलकान
    Posted in: किसान, खेती

    —-सुनील अमर—– छह महीने के भीतर तीसरी बार गन्ना मिलों पर सरकारों की उदारता की बरसात हुई है। दशकों से किसानों का हजारों करोड़ रुपया दबाए बैठी इन मिलों को सरकार से सख्ती के बजाय तमाम तरह के उपहार मिल रहे हैं। अज़ब है कि उच्च अदालतें सरकार से मिलों पर सख्ती कर किसानों का […]

  • Ploughing_with_cattle_in_West_Bengal
    अलग से बने कृषि बजट और कृषि सेवा
    Posted in: किसान, खेती

    —–सुनील अमर—– देश की 58 प्रतिशत आबादी को रोजगार तथा लगभग समूची आबादी को भोजन उपलब्ध कराने वाली भारतीय कृषि की दयनीय हालत का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि इसके लिए अलग से बजट बनाने का प्राविधान नहीं है। देश में रेलवे के लिए अलग से बजट बन सकता है लेकिन खेती […]

  • 471667518
    नर्मदा के संतानों की रूहें
    Posted in: किसान, मध्य प्रदेश

    —-जावेद अनीस—– कई सालों से देश के किसान मुसलसल आत्महत्या कर रहे हैं लेकिन किसानों के इस देश में  यह एक मुद्दा तब बन पाया जब एक किसान का बेटा लुटियंस की दिल्ली में ठीक हुक्मरानों के  सामने खुदकशी कर लेता है। इसके बाद देश भर में भूमि अधि‍ग्रहण कानून और किसान आत्महत्या से जुड़े […]

  • gajendra-rajput_650x400_61429702116
    आत्महत्या को मजबूर किसान
    Posted in: किसान, ग्रामीण भारत

    —-शशांक द्विवेदी—- राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी की रैली में एक “आम आदमी “ किसान गजेन्द्र ने सार्वजनिक रूप से खुदखुशी कर ली । संसद भवन से मात्र 2 किलोमीटर की दूरी पर जंतर –मंतर में हजारों की भीड़ ,सैकड़ो मीडिया वाले थे ,मंच पर अरविन्द केजरीवाल एंड कंपनी भी थी लेकिन कोई उसे […]

  • Hail storm hit
    अब ‘शुभचिन्तकों’ से त्रस्त हैं उत्तर प्रदेश के किसान!
    Posted in: उत्तर प्रदेश, किसान, खेती

    —कृष्ण प्रताप सिंह—- बेमौसम बारिश और ओलों की मार से कराह रहे उत्तर प्रदेश के किसान जितने कुदरत के इस कहर से उससे ज्यादा अपनी शुभचिंतक पार्टियों व नेताओं के रंग-ढंग देखकर हैरान हैं। ये पार्टियां व नेता किसानों के लिहाज से विकट संकट की इस घड़़ी में भी एक दूजे को लेकर सौतियाडाह से […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in