फिल्म समीक्षा

  • Review of Masaan by Siddhart Shankar Gautam
    अंतर्मन को टटोलती है ‘मसान’
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    ——सिद्धार्थ शंकर गौतम—— कुछ फिल्में होती हैं जो दर्शकों की संख्या को तो तरसती हैं लेकिन जो इन्हें देखते हैं वे बता सकते हैं कि उन्होंने क्या अनुभव किया? यह बात मैं इसलिए कह रहा हूं कि क्योंकि मैं जिस सिनेमाघर में ‘मसान’ देखने गया, वहां पहले तो मुझे टिकट देने से ही मना कर […]

  • Guddu-Rangeela2
    गुड्डू रंगीला : परदे पर तैरता खाप
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    —–जावेद अनीस——- भोजपुरी गायक गुड्डू रंगीला अपने “हमरा हाउ चाही” जैसे दिअर्थी गीतों के वजह से काफी बदनाम रहे हैं, निर्देशक सुभाष कपूर की नयी फिल्म के दो प्रमुख किरदारों का नाम भी “गुड्डू” और “रंगीला” है, संयोग से यह समानता यही तक सीमित रहती है और हम पाते हैं कि खाप पंचायतों की दहशत […]

  • DA7_miss_tanakpur
    “मिस टनकपुर हाजिर हो”- एक दुर्लभ विषय पर साहसी फिल्म
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    —–जावेद अनीस—– भारत में एक बार आप राजनीति और सरकार पर क्रिटिकल होकर बात तो कर सकते है लेकिन सामाजिक-सांस्कृतिक मसलों पर क्रिटिकल होकर बात करना बहुत मुश्किल है। “मिस टनकपुर हाजिर हो” यह काम करती है, ऐसे विषय पर फिल्म बनाना दुर्लभ और जोखिम भरा काम है और इसका स्वागत होना चाहिए,अपने ट्रीटमेंट की […]

  • Dil Dhadakne Do
    दिल धड़कने दो; बड़ी नाव पर लदा बेकार सामान
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    —–सिद्धार्थ शंकर गौतम —– युवा निर्देशक जोया अख्तर की फिल्में, चाहे वह लक बाय चांस हो या ज़िंदगी न मिलेगी दोबारा; एक ऐसी पारिवारिक लीक पर चलने का दावा करती हैं जो बड़जात्या और चोपड़ा परिवार के ड्रामे से कोसों दूर है। उनकी ताज़ा प्रस्तुति ‘दिल धड़कने दो’ हालांकि ज़िंदगी न मिलेगी दोबारा जैसी मनोरंजक […]

  • Tanu-Weds-Manu-2-A-real-sequel-Krishika-Lulla
    तनु वेड्स मनु रिटर्न्स:- झज्जर की बेटियों की भी कहानी
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    जावेद अनीस भारतीयों के लिए सिनेमा मनोरंजन है, जिसके लिए उन्हें कम्प्रोमाइज़ भी करना पड़ता है तभी तो हमारी ज्यादातर सो काल्ड मनोरंजक फिल्मों में “अक्ल” का ध्यान नहीं रखा जाता है और मनोरंजन के नाम पर तर्कहीनता,स्टोरी की जगह स्टार, सेक्स,पागलपन की हद तक हिंसा, हीरोइन के जाघें और हीरो का सिक्स पैक परोसा […]

  • piku-poster2-embed
    पीकू- दृश्यों के पीछे की आधार कथा
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    —-वीरेन्द्र जैन—- अगर मैं कोई फिल्म पहले दिन नहीं देखता तो खुद को उस पर समीक्षा लिखने का अधिकारी नहीं समझता हूं, किंतु पीकू इस मामले में अपवाद है। इस पर मैंने इसलिए लिखना चाहा क्योंकि पीकू में दीपिका पादुकोण और अमिताभ बच्चन के अच्छे अभिनय और पटकथा के बारे में विस्तार से बताती समीक्षाओं […]

  • gabbar-is-back-759
    ‘गब्बर इज़ बैक’ एन्ड ही इज मोर डैंजर
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    —-जावेद अनीस—- शोले फिल्म के ओरिजिनल क्लाइमैक्स में ठाकुर द्वारा गब्बर को मारते हुए दिखाया गया था  जिसे बाद में सेंसर बोर्ड की दखल के बाद बदलना पड़ा, सेंसर बोर्ड नहीं चाहता था कि फिल्म में ठाकुर का किरदार कानून को अपने हाथ में ले। लगभग चालीस साल बाद आयी “गब्बर इज बेक” के क्लाइमैक्स […]

  • dharam sankat
    हिन्दुस्तान के रूह को तलाशती “धरम संकट में”
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    —-जावेद अनीस—- भारत एक धर्मान्ध देश है,यहाँ धार्मिक जीवन को बहुत गंभीरता से स्वीकार किया जाता है, लेकिन भारतीय समाज की सबसे बड़ी खासियत विविधतापूर्ण एकता है, यह जमीन अलग अलग सामाजिक समूहों, संस्कृतियों और सभ्यताओं की संगम स्थाली रही है, और यही इस देश की ताकत भी रही है. आजादी और बंटवारे के जख्म […]

  • Dum Laga ke
    दम लगा के होइसा : कुछ साहित्यिक कृतियों का फिल्मी रूपान्तरण
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    —वीरेन्द्र जैन— फिल्म विधा डायरेक्टर का माध्यम है, अन्य लोग तो उसके सहयोगी होते हैं। मैंने भी इस फिल्म का नाम और कलाकारों के नाम देख कर कोई स्टंट फिल्म समझ इसकी उपेक्षा कर दी थी किंतु फेसबुक पर कुछ विश्वसनीय साहित्यिक मित्रों की प्रसंशा पढ कर ही इस फिल्म को देखने का मन बना। […]

  • ‘पीके’ फिल्म - मनोरंजन के साथ सन्देश देने की कला
    ‘पीके’ फिल्म – मनोरंजन के साथ सन्देश देने की कला
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    –वीरेन्द्र जैन– मुझे हाथरस के प्रोफेसर डा. राम कृपाल पांडे के सौजन्य से एक बार हिन्दी के सबसे प्रमुख आलोचक डा. राम विलास शर्मा से मिलने का सौभाग्य मिला था। उस अवसर पर मैंने उनसे हास्य और व्यंग का फर्क जानना चाहा तो उन्होंने उत्तर में कहा कि जब आदमी दाँत खोल कर हँसता है […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in