मजदूर

  • labour-day-may-day-2017
    मजदूरों के लिए विपरीत समय – जावेद अनीस
    Posted in: मजदूर

    मजदूरों के लिए विपरीत समय —– जावेद अनीस —— यह एक जटिल और कन्फ्यूज़्ड समय है, जहां बदलाव की गति इतनी तेज और व्यापक है कि उसे ठीक से दर्ज करना भी मुश्किल हो रहा है. पूरी दुनिया में एक खास तरह की बैचनी महसूस की जा रही है. पुराने मॉडल और मिथ टूट रहे […]

  • 'निल बट्टे सन्नाटा’ और घरेलू कामगार महिलायें
    ‘निल बट्टे सन्नाटा’ और घरेलू कामगार महिलायें – जावेद अनीस
    Posted in: फिल्म समीक्षा, मजदूर, महिला

    विदेशों में सभी परिवार “घरेलू सहायक” अफोर्ड नहीं कर पाते हैं क्योंकि उनकी पगार बहुत ज्यादा होती है, लेकिन भारत में “काम वाली बाई” रखना बहुत सस्ता है. शायद इसी वजह से यहाँ घरेलू कामगार महिलायें अदृष्य सी हैं. उनके काम को आर्थिक और सामाजिक रूप से महत्त्व नहीं दिया जाता है, हालाँकि इन दोनों […]

  • dubai-workers-GETTY
    इस शोषण पर मौन क्यों?
    Posted in: मजदूर

    —–हरे राम मिश्र—— पिछले दिनों मुझे उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ उन श्रमिकों के लंबे इंटरव्यू करने का मौका मिला जो रोजी-रोटी की तलाश और रोजगार के सिलसिले में परसियन गल्फ (खाड़ी देशों) में काम करने के लिए गए हुए थे और हाल ही में वापस लौटे थे। काम करने के लिए खाड़ी मुल्कों […]

  • labour
    श्रमिक विरोधी मोदी सरकार
    Posted in: मजदूर, सरकार

    —-जावेद अनीस—- असंगठित क्षेत्रों में काम कर रहे मजदूरों के लिए श्रम कानून पहले ही बेमानी हो चुके थे इधर  लेकिन “अच्छे दिनों’’ के नारे के साथ सत्ता में आई मोदी-सरकार के राज में तो संगठित क्षेत्र के मजदूरों की हालत भी बदतर हो गयी है, सत्ता में आते ही इस सरकार ने श्रम-कानूनों में […]

  • Housemaid
    महिला घरेलू कामगारों का श्रममूल्य
    Posted in: मजदूर, महिला

    —-उपासना बेहार—- दुनिया भर में 1 मई को अन्तराष्ट्रीय मजदूर दिवस के रुप में मनाया जाता है। भारत में भी 1 मई 1923 से मजदूर दिवस मनाने की शुरुवात हुई। उन्नीसवी शताब्दी के नवें दर्शक में अमेरिका के मजदूरों द्वारा काम के घंटे को कम करने के लिए प्रर्दशन और हडताल किये जाने लगे, उनकी […]

  • MGNRE1
    क्या मनरेगा बची रहेगी?
    Posted in: आर्थिक जगत, मजदूर, सरकार

    – रीना मिश्रा – ऐसा लगता है कि नरेन्द्र मोदी सरकार गांव के गरीब परिवारों के लिए वरदान बनी महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के खात्मे के लिए कमर कस चुकी है। मोदी सरकार ने पूरे देश में लागू इस योजना को अब 200 जिलों तक सीमित करने का प्रस्ताव किया है। इसके […]

  • MGNREGA_Logo
    मनरेगा बदलने का मन
    Posted in: गरीबी, ग्रामीण भारत, मजदूर

    – जाहिद खान – महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना जैसा कि नाम से जाहिर है, ग्रामीण बेरोजगारों के लिए सरकार द्वारा सामाजिक सुरक्षा भुगतान देने की योजना है। योजना के तहत सरकार, गरीब परिवारों को साल में कम से कम 100 दिन का रोजगार देती है। यही नहीं योजना में यह भी प्रावधान […]

  • Labor Law
    श्रम कानून संशोधनों के निहितार्थ क्या है ?
    Posted in: आर्थिक जगत, उद्योग जगत, मजदूर, सरकार

    शैलेन्द्र चौहान केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने फैक्टरी कानून, एप्रेंटिस कानून और श्रम कानून (कुछ प्रतिष्ठानों को रिटर्न भरने और रजिस्टर रखने से छूट) कानून में संशोधन को मंजूरी दी. सरकार ने संसद में बताया कि वर्तमान श्रम कानूनों में संशोधन की जरूरत है। श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री विष्णु देव साय ने बताया कि बाल श्रम […]

  • Maruti
    यह संकट तो एक शुरुआत है
    Posted in: उद्योग जगत, न्यायपालिका, प्रशासन, मजदूर

    – रीना मिश्रा हरियाणा के मानेसर स्थित मारूती कारखाने में सवा दो साल पहले हुए हिंसक संघर्ष में जहां एक मैनेजर की मौत हो गई थी वहीं बड़े पैमाने पर कंपनी के अंदर तोड़-फोड़ और आगजनी भी हुई थी। इस पूरे मामले में जेल में बंद 148 मजदूरों को आज तक जमानत भी नही मिल […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in