Monthly Archives: September 2015

  • modi-ads-inline
    सरकार के प्रचार पर विचार
    Posted in: विशेष

    ——–वीरेन्द्र जैन——— ‘जन सम्पर्क अधिकारी’ जिन्हें अंग्रेजी में पी आर ओ कहा जाता है, किसी संस्थान के कार्य से सम्बन्धित व्यक्तियों के साथ मधुर रिश्ते बनाने, गलतफहमियां दूर करने और अपने संस्थानों के उत्पादों के प्रचार हेतु बनाया गया पद है। क्रमशः यह पद संस्थान की कमियां छुपाने, विरोधी प्रचार का स्पष्टीकरण देने का काम […]

  • IndiaTv4e601e_main
    क्या मोदी की विदेश यात्राओं के सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं?
    Posted in: राजनीति

    ——-शैलेन्द्र चौहान——– एक ओर तो मीडिया के शहंशाह कहे जाने वाले रुपर्ट मर्डोक भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज़ाद भारत का ‘सर्वश्रेष्ठ नेता’ बता रहे हैं. वहीँ अमरीकी उद्योग जगत के एक प्रतिनिधि ने कुछ दिन पहले ही यह बयान दिया कि भारत की नौकरशाही में अबतक कोई बदलाव नहीं दिखाई दे रहा है […]

  • hqdefault
    ‘किस किसको प्यार करूं’:- कॉमेडी किंग की ट्रेजेडी गाथा
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    ——जावेद अनीस——- हमारे यहाँ कॉमेडी का मतलब औरतों, ट्रांसजेंडर्स, मोटे लोगों, बुजर्गों, काले–सावंले लोगों और विकलांगों का मजाक उड़ाना सा बन गया है. पिछले कुछ सालों से कपिल शर्मा यही सब कर-करके काफी नाम और दाम कम चुके हैं. उन्हें हमारे समय के कॉमेडी के बादशाह के तौर पर पेश किया जा रहा है .टीवी […]

  • UNSC
    सुरक्षा परिषद में पुनर्गठन की बढ़ी उम्मीद
    Posted in: विश्व जगत

    ——-प्रमोद भार्गव——— संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद  में सुधार और विस्तार की मांग जब-तब अंगड़ाई लेती रही है। किंतु यह पहली बार संभव हुआ कि इस मांग को औपचारिक विचार-विमर्ष के लिए संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने सर्व-सम्मति से मंजूर किया और अब ऐसा लगने लगा है कि सभी बड़े महाद्वीपों की अवाज इसमें शामिल कर […]

  • bhagwat
    आरक्षण पर संघ परिवार की उधेड़बुन
    Posted in: करेंट अफेयर्स

    ——-डाॅ. महेश परिमल——– आखिर वही हुआ, जिसका डर था। आरक्षण को लेकर एक बार फिर गुजरात पूरे देश में एक मॉडल के रूप में उभरा है। इस बार भी गुजरात से उठे सवाल पूरे देश में चर्चा का विषय बने हुए हैं। 1975 में गुजरात नवनिर्माण आंादोलन  के रूप में जयप्रकाश नारायण के ‘संपूर्ण क्रांति […]

  • bhagat-singh-yuvadesh--417x249
    समसामयिक संदर्भ में भगत सिंह के विचार
    Posted in: विशेष

    ——शैलेन्द्र चौहान——- भगत सिंह को भारत के सभी विचारों वाले लोग बहुत श्रद्धा और सम्मान से याद करते हैं। वे उन्हें देश पर कुर्बान होने वाले एक जज़बाती हीरो और उनके बलिदान को याद करके उनके आगे विनत होते हैं। वे उन्हें देवत्व प्रदान कर तुष्ट हो जाते हैं और अपने कर्तव्य की इतिश्री मान […]

  • nepal-main
    लोकतांत्रिक गणराज्य की राह पर नेपाल
    Posted in: राजनीति

    ——-अरविंद जयतिलक——— हिमालय की गोद में बसे पड़ोसी देश नेपाल से अच्छी खबर है कि सात साल के राजनीतिक उठापटक के बाद आखिकार उसे अपना नया लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष और गणतंत्रात्मक संविधान मिल गया। नेपाल के 601 सदस्यों की संविधान सभा ने 25 के मुकाबले 507 मतों से संविधान को पारित किया है। इस अर्थ में […]

  • journalism
    लोकतंत्र में पत्रकारिता
    Posted in: विशेष

    ——-शैलेन्द्र चौहान——– स्वतन्त्रता आन्दोलन के दौरान  पत्रकारिता को एक मिशन बनाकर सहभागी के रूप में अपनाया गया था। स्वतन्त्रता के पश्चात भी पत्रकारिता को व्यावसायिकता से जोड़कर नहीं देखा गया, किन्तु वैश्वीकरण, औद्योगीकरण के इस दौर में पत्रकारिता को व्यवसाय बनाकर प्रस्तुत किया गया। इस कारण से देश के बड़े-बड़े औद्योगिक घरानों में करोड़ों-अरबों की धनराशि लगाकर इसमें अपना सशक्त हस्तक्षेप करना शुरू […]

  • crime
    आखिर क्यों नहीं बदलती महिलाओं की दशा?
    Posted in: महिला, समाज

    ——-जगजीत शर्मा——– बीड :16 साल तक बेटी से रेप करने वाला पिता गिरफ्तार, दो बार किया गर्भवती। इंदौर : बेटी के साथ सौतेले पिता ने किया कथित रेप। गोवा : 10-वर्षीय बेटी के साथ कथित रेप, आरोपी पिता गिरफ्तार। मंदसौर: पिता ने एक वर्ष तक किया दस वर्षीय पुत्री से दुष्कर्म। ये अखबारों में छपी […]

  • Nepal Constitution
    नेपाल में धर्मनिरपेक्षता की जीत
    Posted in: करेंट अफेयर्स, विश्व जगत

    ——कृष्ण प्रताप सिंह——- पिछले आठ वर्षों से लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता का स्वाद ले रहे हमारे पड़ोसी देश नेपाल ने अंततः ‘अपनी जड़ों की ओर लौटकर’ फिर से हिन्दू राष्ट्र बनने से साफ इनकार कर दिया। वहां की राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी के अध्यक्ष कमल थापा और सांसद अमृत बोहरा ने छः सौ एक सदस्यों वाली संविधानसभा […]

  • Manjhi_2269309g
    जीतनराम माँझी के नाम खुला खत
    Posted in: राजनीति

    ———वीरेन्द्र जैन————— प्रिय जीतनराम जी पूर्व मुख्यमंत्री बिहार पटना आशा है कि इस समय तक आप एनडीए से आपके दल को मिली सीटों पर चुनाव में जुट गये होगे। मुझे आपका वह भविष्य दिख रहा है जो सम्भवतः आपको नहीं दिख रहा, इसलिए मुझे आप से सहानिभूति है। जो लोग इतिहास नहीं पढ पाते वे […]

  • Woman-covers-her-face-protecting-herself-from-vehicular-traffic-e1435829426338
    वायु प्रदूषण से जूझता पीएम मोदी का बनारस
    Posted in: प्रदूषण

    ट्रैफिक जाम होना बनारस में आम बात है। घाटों और मंदिरों के शहर के रूप में मशहूर यह शहर पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय सीट बनने के बाद दुनिया भर में चर्चा में आ गया। डीजल वाहनों से निकलने वाले धुएं के चलते यहां के लोग टहलते या साइकिल चलाते वक्त कपड़े या […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in