अच्छे दिन आने एवम् सुशासन के नाम पर जन मानस से छलावा

1:42 pm or July 28, 2014
280720149

विजय कुमार जैन-

भारत की जनता ने नरेन्द्र मोदी को अच्छे दिन लाने,सुशासन देने के लोक लुभावन वायदे के आधार पर चुना है। देश के मात्र 31प्रतिशत मतदाताओं के मत से यह सरकार बनी है। विगत दो माह में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने ऐसा कोई ठोस निर्णय लेने का प्रयास नहीं किया है जिससे आम मतदाताओं के मन में इस आशा का संचार हो कि अच्छे दिन आने बाले हैं।

रेल बजट, आम बजट, पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वृद्वि, महंगाई बढ़ाने पर जन असन्तोष का सामना कर रही केन्द्र सरकार के जिम्मेदार मंत्री एक मात्र रटा हुआ वाक्य बार बार कह रहे है हमें पिछली यूपीए सरकार से चौपट व्यवस्था मिली है जिसे ठीक करने में समय लगेगा। पिछली यूपीए सरकार को मतदाताओं ने सत्ता से अलग कर अब आपको जिम्मेदारी दी है। कि आप कुछ ऐसा करके दिखायें कि आम जनता की समस्यायें कम हों। पिछली मनमोहन सिंह सरकार के सिर पर ठीकरा फोड़ने की अपेक्षा केन्द्र सरकार को देश की भावनाओं के अनुरूप कार्य करने की आवश्यकता है।

वरिष्ठ पत्रकार वेद प्रताप वेदिक पाकिस्तान में आतंकवाद के अग्रणी हाफिज सईद से मिल आते हैं। सईद वही कुख्यात अपराधी है। जिसने कारगिल घटना एवं मुंबई में 26/11को सीरियल ब्लास्ट कराया। जब वेदिक के सईद से मिलने की घटना पर विपक्ष ने संसद में सरकार से जानकारी चाही तो वित मंत्री अरूण जेटली एवं विदेश मंत्री सुषमा स्बराज ने वयान दिया वेदिक के सईद से मिलने की घटना से सरकार का कोई लेना देना नहीं है। कांग्रेस का पुरजोर विरोघ होने पर विदेश मंत्री ने बयान दिया इसकी जानकारी दूतावास से मांगी है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवम् सांसद दिग्विजय सिंह ने राज्य सभा में कहा वेदिक भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निजी सलाहकार है। आपने कहा वेदिक की सईद से मुलाकात से भारत सरकार का गुप्त एजेन्डा उजागर हुआ है। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह द्वारा आतंकवादी ओसामा विन लादेन को ओसामा जी कह देने पर उनकी कटु आलोचना भाजपा ने की थी। अब वेदिक और सईद की मुलाकात पर सब चुप हैं।

भारतीय जनता पार्टी एवम् केन्द्र की भाजपा सरकार राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के रिमोट से संचालित है। आर.एस.एस. ने पहले भाजपा के वरिष्ठ नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, जसवंत सिंह आदि को दर किनार कर नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित किया। प्रधानमंत्री पद पर नरेन्द्र मोदी की ताज पोशी के बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर अमित शाह को बैठाया। साथ ही संघ और भाजपा संगठन में आपसी समन्वय बनाये रखने संघ के राम माघव एवम् शिवप्रकाश को भाजपा की सदस्यता दिलायी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शपथ लेने के तत्काल बाद कहा था वह अब 125 भारतवासियों के प्रधानमंत्री हैं, किन्तु संघ द्वारा मोदी सरकार पर पकड़ मजबूत करने और संघ का निजी एजेन्डा लागू करने क्रमश: कार्य करने से ऐसा प्रतीत नहीं होता नरेन्द्र मोदी 125 करोड़ जनता की भावनाओं को ध्यान में रखकर कार्य कर रहे हैं।

संघ से राम माधव का भाजपा में प्रवेश निश्चित रूप से संघ और सरकार के बीच समन्वय तथा सही दिशा में सरकार को चलाने के लिये कराया है। यह तो संघ की अपनी कार्य योजना है। जिस दिशा में वह तेजी से बढ़ रही है। यह भी ध्यान देने की बात है आम मतदाताओं ने भाजपा अथवा नरेन्द्र मोदी को वोट देते समय प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से उनके लोक लुभावन वायदों पर गारंटी को भी ध्यान में रखा था, भाजपा व नरेन्द्र मोदी को यह नहीं भूलना चाहिये।

सुशासन और अच्छे दिनों की खोज के लिये आवश्यक है निर्मल मन से प्रयास किये जाये। भाजपा एवं संघ को ऐसी हरकतों को छोड़ना होगा,जिन्हें सत्ता प्राप्त करने स्वीकार किया गया था। भाजपा और संघ को जनता के सामने वह कार्य योजना प्रस्तुत करना चाहिये,जिसको स्वीकार करने से देश हित,देश का विकास होगा। देश की एकता व अखंडता को कोई खतरा नहीं होगा।

Tagged with:     , ,

About the author /


Related Articles

Leave a Reply

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in