Blog

  • 1606201411
    घातक है-रेडियोधर्मी प्रदूषण ?
    Posted in: Uncategorized

    – डॉ. सुनील शर्मा- आज विकास की गति के लिहाज से उर्जा की मॉग लगातार बढ़ती जा रही है।उर्जा के तमाम स्त्रोतों जैसे जल,कोयला,तेल और सौर उर्जा या तो सिकुड़ते जा रहे या फिर पर्यावरणीय दृष्टि से घातक है। ऐसी स्थिति में उर्जा की आपूर्ति की सततता के लिए परमाणु उर्जा की ओर सबकी नजरें […]

  • 1606201412
    फुटबाल के धंधे में बालश्रम
    Posted in: Uncategorized

    –नरेन्द्र देवांगन- 10 साल की सांवरी, दुर्गंध मारते चमड़े के ढेर के पास बैठी हुई। झुका हुआ सिर, एक चीज पर जमी नीचीं नजरें। छोटे-छोटे हाथ और दर्द करती पतली सूजी उंगलियां। तेजी से चमड़े की फुटबाल की सिलाई करती उंगलियों से पकड़ी दो भारी सुइयां। सांवरी का पूरा दिन और थोड़ी रात अक्सर इसी […]

  • 090620141
    यूपीए सरकार की नीतियां क्यों नहीं बदलते मोदी
    Posted in: Uncategorized

    –विवेकानंद- बीजेपी की सरकार आते ही और नरेद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनते ही देश में खुशियों की बहार आ जाएगी। लोकसभा चुनाव से पहले और प्रचार के दौरान ऐसा दिखाने का जमकर प्रयास किया गया। लोगों ने इस पर भरोसा भी किया और बीजेपी को ऐतिहासिक जीत दिलाई। निश्चित रूप से इसमें मोदी की बड़ी […]

  • 090620142
    इस बहुमत में निहित चुनौतियां और देशहित
    Posted in: Uncategorized

    –वीरेन्द्र जैन- पिछले दिनों हुये आम चुनाव और चुनावों के परिणामस्वरूप गठित सरकार से देश के विशाल बहुमत की उम्मीदें बहुत अधिक हैं क्योंकि अतिशय प्रचार के खाद पानी से जो सपने बोये गये हैं उनसे उम्मीदों की फसल बहुत लहलहा रही है। आम जनता को लगता है कि भाजपा और उसके सहयोगी दलों को […]

  • 090620143
    मोदी और संघ परिवार का विकल्प क्या होगा
    Posted in: Uncategorized

    –जावेद अनीस- तमाम पूर्वानुमानों को धता बताते हुए भाजपा को बहुमत मिला है, नि:संदेह इस बार के चुनाव परिणाम अपने साथ ऐसे बदलाव लेकर आया है जो भारत में नये युग के वाहक होंगें। स्वामी रामदेव के शब्दों में कहें तो यह ”व्यवस्था परिवर्तन” है। पहले बात नरेन्द्र मोदी के चुनौतियों की करते हैं , […]

  • 090620144
    समाजवादी पार्टी के लिए आत्ममंथन का समय
    Posted in: Uncategorized

    –हरेराम मिश्र- लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की करारी हार के कारणों की समीक्षा और आम जनता के बीच सपा सरकार की उपलब्धियां गिनाने के लिए पार्टी द्वारा पूरे उत्तर प्रदेश में जिला स्तरीय बैठकों का आयोजन अभी हाल ही में किया गया। लेकिन ये समीक्षा बैठकें जिस तरह से न केवल बेनतीजा रहीं बल्कि […]

  • 090620145
    कम्पनियों के तर्ज पर चलते राजनीतिक दल
    Posted in: Uncategorized

    –सुनील अमर- ताजा सम्पन्न लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की आश्चर्यजनक सफलता ने अन्य राजनीतिक दलों तथा चुनाव विश्लेषकों को यह सोचने पर मजबूर किया कि बिना किसी खास मुद्दे के, अंधाधुंध पैसे तथा दक्ष व्यावसायिक प्रबन्धन से भी चुनावों को जीता जा सकता है। देश के लिए यह नए तरह का अनुभव था। […]

  • 090620146
    म्यांमार के मुसलमान नारकीय जीवन बिता रहे हैं
    Posted in: Uncategorized

    –एल.एस.हरदेनिया- दुनिया के अनेक मुस्लिम मुल्कों में भाड़ी उथलपुथल मची हुई है। इस उथलपुथल के चलते, इन देशों में भारी खूनखराबा हो रहा है। निर्दोष व्यक्ति मारे जा रहे हैं। जहां एक ओर ऐसी स्थिति है वहीं कुछ देशों में, जहां मुस्लिम अल्पसंख्यक हैं, वहां उन्हें तरह-तरह की ज्यादतियां और मुश्किलें सहना पड़ रही हैं। […]

  • 090620147
    आत्ममुग्धता का सम्मोहन अपना प्रोफाइल फोटो अपडेट किया क्या ?
    Posted in: Uncategorized

    –अंजलि सिन्हा- दिल्ली के एक नौजवान को कुछ खुराफाती व्यवहार से सोशल मीडिया में चर्चा बनने का आइडिया आया। उसने अपने कमरे में वीडियो कैमरा लगा कर पिता को अन्दर बुलाया और कहा कि उसकी गर्लफ्रेण्ड गर्भवती हुई है। पिता ने बेटे की धुनाई कर दी। बाद में बेटे ने योजना के मुताबिक उसे यूटयूब […]

  • 090620148
    ‘वायदा’ के खेल पर रोक की जरुरत
    Posted in: Uncategorized

    –प्रमोद भार्गव- केंद्र की नई सरकार और उसके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने सबसे बड़ी और मुंहबाए खड़ी चुनौती ‘मंहगाई’ है। वैसे तो वैश्विक स्तर पर रुपए की मजबूती से सोना और व्यावसायिक गैस सिलेण्डरों के दाम घटे हैं, लेकिन आम आदमी को राहत तब मिलेगी जब खाद्य वस्तुओं के दाम घटें। ऐसी आम धारणा […]

  • 090620149
    औरत के खिलाफ यह अपराध कब खत्म होगा
    Posted in: Uncategorized

    –जाहिद खान- सोलह दिसंबर 2012 को दिल्ली में हुए सामूहिक बलात्कार कांड के बाद सरकार द्वारा यौन हिंसा संबंधी कानूनों को और सख्त करने के बाद उम्मीद बंधी थी कि देश में इस तरह की वहशियाना हरकतों पर कुछ लगाम लगेगी, लेकिन यह कानून भी अपराधियों में खौफ पैदा नहीं कर पा रहे हैं। शायद […]

  • 0906201410
    विनाश का पर्याय बनती सडकें
    Posted in: Uncategorized

    – सुनील तिवारी   – विकास का प्रतीक मानी जाने वाली सडकें आज विनाश का पर्याय बनती जा रही है। ऐसा कोई भी दिन नहीं गुजरता जिस दिन देश के किसी भी भाग में सडक हादसा न हो और लोगों को जान से हाथ धोना न पडे। अधिकांशत: सडक दुर्घटनाओं का शिकार होने वाले व्यक्ति […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in