Blog

  • PTI6_6_2014_000065A
    शर्मशार करने वाली दो निंदनीय घटनाए
    Posted in: Uncategorized

    – एल.एस.हरदेनिया- पिछले सप्ताह दो ऐसी घटनाएं घटीं जिनसे हमारे देश के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप को गंभीर चोट पहुंची है। दोनों घटनाएं बढ़ती हुई असहिष्णुता की प्रतीक हैं। इस तरह की पहली घटना पुणे में घटी, जहां एक पूरी तरह से निर्दोष नवयुवक की हत्या कर दी गई। इस युवक की हत्या सिर्फ इसलिए की गई […]

  • The Prime Minister Mr. Morarji Desai at a press conference at Raj Bhavan, Calcutta, Photo : Tara Pada Banerji, Date : 30.5.77
    एक विस्मृत गुजराती प्रधानमंत्री
    Posted in: Uncategorized

    –रामचन्द्र गुहा- चुनाव अभियान के दौरान नरेंद्र मोदी ने अनेक बार यह कहा कि वे वल्लभ भाई पटेल को भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते थे। और उन्होने पटेल की स्मृति में एक ”स्टेच्यू ऑफ यूनिटी” बनाने का वादा भी किया जो ”स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी” से भी विशाल एवं शानदार होगी। श्री […]

  • 160620145
    कॉरपोरेट की जेब में मीडिया
    Posted in: Uncategorized

    –हरेराम मिश्र- मीडिया और उसके वर्ग चरित्र पर बात शुरू करने से पहले मैं एक वाकिए का जिक्र करना चाहूंगा। बात उन दिनों की हैं जब पर्यावरण पर कार्पोरेट कंपनियों के बढ़ रहे दखल और मानवता पर उसके खतरे को लेकर संघर्ष करने वाली सामाजिक कार्यकर्ता सुनीता नारायण के एनजीओ ने पहली बार यह बताया […]

  • 160620146
    कानून-व्यवस्था और अखिलेश की सीमाएें
    Posted in: Uncategorized

    –सुनील अमर- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भयावह होती कानून-व्यवस्था की स्थिति को संभालने के लिए एक झटके में 108आई.ए.एस.और आई.पी.एस.अधिकारियों का तबादला तथा कईयों को सजा के तौर पर प्रतीक्षारत कर दिया है। प्रशासनिक दक्षता बनाने के लिए इस तरह के स्थानान्तरण महत्त्वपूर्ण होते हैं और इसी के मार्फत योग्य अधिकारियों को […]

  • Human Rights Watch
    ‘ वे कहते हैं, हम गन्दे हैं’ : भारत के स्कूलों में हाशियाकृत समुदायों के बच्चे
    Posted in: Uncategorized

    –सुभाष गाताड़े- उड़िसा के केवनझार जिले के आंगनवाडी केन्द्र में रोज की तरह अपने ढाई साल के बेटे परशुराम मुंडा को छोड़ते वक्त उसके पिता रिलु मुंडा ने यह सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उसकी किलकारियां जल्द ही कराहों में बदलेंगी क्योंकि आंगनबाड़ी की महिला कर्मचारी उस पर पतले चावल की (पेजा) हंडिया […]

  • 160620148
    शौचालय शौच के लिए या सुरक्षा के लिए
    Posted in: Uncategorized

    – अंजलि सिन्हा- उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले की दो बच्चियों के साथ बलात्कार और उनकी हत्या की घटना पूरे देश में ही नहीं अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर भी चिन्ता का सबब बनी है। पिछले दिनों संयुक्त राष्ट्रसंघ के महासचिव बान की मून ने भी इस मसले की भर्त्सना की। विभिन्न संगठनों, समूहों की तरफ से […]

  • 160620149
    सोशल मीडिया पर नियंत्रण के लिए कब विकसित होगा कारगर तंत्र
    Posted in: Uncategorized

    –जाहिद खान- सोशल नेटवर्किंग साइटों पर कुछ नियंत्रण हो, यह बात बीते कुछ महीनों से बार-बार उठती रही है। नियंत्रण और नियमन की यह बात लाजिमी भी है। इन सोशल नेटवर्किंग साइटों पर हाल ही में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जो विवाद का विषय बने। विवाद कई बार इतना ज्यादा बढ़ गया कि […]

  • 1606201410
    स्कूलों की कैंटीन से बीमारी का खतरा
    Posted in: Uncategorized

    – अमिताभ पाण्डेय- अपने बच्चों की सेहत को लेकर चिंता करने वाले माता पिता यह जानकर हैरान हो सकते है कि स्कूलों की कैंटीन बच्चों को बीमार कर सकती है। इसका कारण कैंटीन में साफ सफाई का पर्याप्त प्रबंध नहीं होना और उसमें बिकने हानिकारक खाघ पदार्थ है। स्कूलों की कैंटीन में बच्चों को खाने […]

  • 1606201411
    घातक है-रेडियोधर्मी प्रदूषण ?
    Posted in: Uncategorized

    – डॉ. सुनील शर्मा- आज विकास की गति के लिहाज से उर्जा की मॉग लगातार बढ़ती जा रही है।उर्जा के तमाम स्त्रोतों जैसे जल,कोयला,तेल और सौर उर्जा या तो सिकुड़ते जा रहे या फिर पर्यावरणीय दृष्टि से घातक है। ऐसी स्थिति में उर्जा की आपूर्ति की सततता के लिए परमाणु उर्जा की ओर सबकी नजरें […]

  • 1606201412
    फुटबाल के धंधे में बालश्रम
    Posted in: Uncategorized

    –नरेन्द्र देवांगन- 10 साल की सांवरी, दुर्गंध मारते चमड़े के ढेर के पास बैठी हुई। झुका हुआ सिर, एक चीज पर जमी नीचीं नजरें। छोटे-छोटे हाथ और दर्द करती पतली सूजी उंगलियां। तेजी से चमड़े की फुटबाल की सिलाई करती उंगलियों से पकड़ी दो भारी सुइयां। सांवरी का पूरा दिन और थोड़ी रात अक्सर इसी […]

  • 090620141
    यूपीए सरकार की नीतियां क्यों नहीं बदलते मोदी
    Posted in: Uncategorized

    –विवेकानंद- बीजेपी की सरकार आते ही और नरेद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनते ही देश में खुशियों की बहार आ जाएगी। लोकसभा चुनाव से पहले और प्रचार के दौरान ऐसा दिखाने का जमकर प्रयास किया गया। लोगों ने इस पर भरोसा भी किया और बीजेपी को ऐतिहासिक जीत दिलाई। निश्चित रूप से इसमें मोदी की बड़ी […]

  • 090620142
    इस बहुमत में निहित चुनौतियां और देशहित
    Posted in: Uncategorized

    –वीरेन्द्र जैन- पिछले दिनों हुये आम चुनाव और चुनावों के परिणामस्वरूप गठित सरकार से देश के विशाल बहुमत की उम्मीदें बहुत अधिक हैं क्योंकि अतिशय प्रचार के खाद पानी से जो सपने बोये गये हैं उनसे उम्मीदों की फसल बहुत लहलहा रही है। आम जनता को लगता है कि भाजपा और उसके सहयोगी दलों को […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in