Blog

  • 020620148
    विश्व पर्यावरण दिवस -5जून   घातक है-प्लास्टिक का बढ़ता उपयोग ?
    Posted in: Uncategorized

    –डॉ. सुनील शर्मा- अगर हम कहें कि हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में सबसे ज्यादा भागीदारी प्लास्टिक की है, तो यह कहना गलत नहीं है। क्योंकि सुबह प्लास्टिक के ब्रश से शुरू हुई दिनचर्या प्लास्टिक के इर्दगिर्द ही घुमती रहती है। दूध,पानी खाने का सामान सब कुछ प्लास्टिक में ही पैक आता है। प्रश्न ये है […]

  • 020620149
    पर्यावरण
    Posted in: Uncategorized

    –शैलेन्द्र चौहान- जैसे-जैसे यह दुनिया अन्योन्याश्रितता (interdependence) की ओर बढ़ रही है वैसे-वैसे हमारा भविष्य और मजबूत तथा जोखिम भरा भी होता जा रहा है। यह सही है कि हम सब लोग इस दुनिया में मिलकर काम कर रहे हैं पर साथ ही साथ हम पर्यावरण के लिए खतरे भी पैदा कर रहे हैं। हमें […]

  • 0206201410
    प्रसव में जान गंवाती माताएं
    Posted in: Uncategorized

    –अरविंद जयतिलक- यह राहतकारी है कि देश में मातृ मृत्युदर में कमी आयी है। संयुक्त राष्ट्र की विश्व स्वास्थ्य संगठन की हालिया रिपोर्ट से उद्धाटित हुआ है कि वर्ष 1990 में गर्भधारण संबंधी जटिलताओं के कारण और प्रसव के दौरान तकरीबन 5,23,000 महिलाओं को जान गंवानी पड़ी जबकि 2013 में 2,89,000 महिलाओं की जान गयी […]

  • 0206201411
    शहरी प्रदूषण ही है अस्थमा का कारण
    Posted in: Uncategorized

    –डॉ. महेश परिमल- अभी कुछ दिनों पहले ही हमारे बहुत करीब से अस्थमा दिवस गुजरा। उस दिन बहुत से आयोजन हुए, जिसमें अस्थमा होने के कारण और उससे बचाव पर चर्चा की गई। यह एक परंपरा है, जिसे हम केवल दिवस मनाकर निभाते हैं। इस बीमारी के बारे में हम यह भूल जाते हैं कि […]

  • 260520141
    हमें अच्छे दिनों का इंतजार है
    Posted in: Uncategorized

    –विवेकानंद- बीजेपी के एक पुराने नेता हैं। मौजूदा मोदी सरकार के पहले जब अटल सरकार बनी थी, तब वे उसमें मंत्री बने थे। इन नेताजी ने अटल सरकार के एक वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में एक खुलासा किया था। इस खुलासे से यह संकेत मिला था कि उस वक्त बीजेपी ने चुनाव में जनता […]

  • 260520142
    इस विजयोत्सव पर गर्व करने के समानांतर
    Posted in: Uncategorized

    –वीरेन्द्र जैन- हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र हैं, और सबसे अच्छे लोकतंत्र होने की सम्भावनाओं से भरे हुये हैं। सोलहवीं लोकसभा के लगभग हिंसा रहित चुनावों द्वारा सता के बदलने या कहें उलटने की घटना ने इस विश्वास को और भी बल दिया है। आइए इन परिणामों के उत्सवी माहौल में एक निगाह हाशिये […]

  • 260520143
    बहुत कठिन है डगर मोदी की
    Posted in: Uncategorized

    – एल.एस.हरदेनिया- जिस दिन से नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री के पद का उम्मीदवार घोषित किया गया था उसी दिन से इस बात पर चर्चा प्रारंभ हो गई थी कि मोदी किसके एजेण्डे पर अमल करेंगे। यह बात बिल्कुल स्पष्ट है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कारण ही मोदी प्रधानमंत्री के पद को हासिल कर सके […]

  • 260520144
    ‘ऐतिहासिक जीत’ के वक्त में आदम अजमेरी का किस्सा
    Posted in: Uncategorized

    –सुभाष गाताड़े- सोलह साल का शाहवान, जो अहमदाबाद के कालुपुर का रहनेवाला है और अभी भी दसवीं कक्षा के रिजल्ट का इन्तज़ार कर रहा है, वह उस दिन बहुत खुश था जब भारत के मतदाताओं ने अपना फैसला सुनाया। उसने अपनी अम्मी को पकड़ कर हवा में उठाने की कोशिश की और अपने भाई अलमास […]

  • 260520145
    इन संकेतों को समझें सपा-बसपा-काँग्रेस
    Posted in: Uncategorized

    –सुनील अमर- लोकसभा का यह चुनाव परिवर्तनकामी रहा, ऐसा चुनाव नतीजों से साफ हो चुका है। देश के अधिसंख्य मतदाताओं ने परिवारवाद, वंशवाद और राजनीतिक तानाशाही के विरुध्द परिवर्तन को अपनी सहमति दी है। इससे स्पष्ट ही यह संकेत निकले हैं कि हमारा लोकतंत्र और परिपक्व हुआ है तथा आम मतदाता जाति और धर्म की […]

  • 260520146
    चिन्ताजनक है संसद में बढती अपराधियों की संख्या
    Posted in: Uncategorized

    –शशिमान शुक्ला- अकसर राजनीतिक दल चुनाव से पहले सार्वजनिक मंचों से यह घोषणा करते हैं कि राजनीति का अपराधीकरण लोकतंत्र के लिए अत्यन्त घातक है और       वे इसके खिलाफ कड़े कानून बनायेंगे और चुनाव में दागियों को टिकट नहीं देंगे, लेकिन जब उम्मीदवार घोषित करने की बारी आती है तो दागी ही […]

  • 260520147
    अब भुगतान करना हुआ और आसान
    Posted in: Uncategorized

    –जाहिद खान- हमारे देश की गिनती अब उन कुछ गिने-चुने देशों में हो गई है, जिनके अपने पेमेंट गेटवे हैं। यानी काफी मशक्कत के बाद आखिरकार देश ने खुद के द्वारा ईजाद किए गए कार्ड के जरिए पैसे के भुगतान का मार्ग स्थापित कर लिया है। इस पेमेंट गेटवे की शुरूआत के साथ ही वीजा […]

  • 260520148
    संदर्भ-: छोटी बीमारियां भी बन जाएंगी बड़े खतरे की वजह-डब्ल्यूएचओ शोध में तिकड़म
    Posted in: Uncategorized

    –प्रमोद भार्गव- एंटी बायोटिक दवाओं को लेकर अर्से से जताई जा रही चिंता ने अब गंभीर रूप ले लिया है। हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपनी एक रिपोर्ट में एंटीबायोटिक दवाओं के विरूध्द पैदा हो रही प्रतिरोधात्मक क्षमता को मानव स्वास्थ के लिए एक वैश्विक खतरे की संबा दी है। इस रिपोर्ट से […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in