Aam Aadmi Party

  • arvind-800x445
    आम आदमी पार्टी का संकट ; पारदर्शिता का सवाल – वीरेन्द्र जैन
    Posted in: राजनीति

    आम आदमी पार्टी का संकट ; पारदर्शिता का सवाल वीरेन्द्र जैन धुर वामपंथ और धुर दक्षिणपंथ को ना पसन्द करने वाले देश में मध्यममार्गी दलों को ही सत्ता सौंपने की परम्परा रही है इनमें से ही एक केन्द्र से कुछ वाम दिखने की कोशिश करता रहा है तो दूसरा केन्द्र से कुछ दक्षिण दिखने की […]

  • yogendra_yadav_759
    आप सुधारने आए थे खुद बिगड़ गए 
    Posted in: करेंट अफेयर्स, राजनीति

    —विवेकानंद— जो पौध जितनी जल्दी बढ़ता है, वह उतने ही जल्दी सूखता भी है और भीड़ को देखकर मन बदलने वालों को कई बार पछताना भी पड़ता भी। बुजुर्गों का यह अनुभव आज आम आदमी पार्टी पर एकदम सटीक बैठता दिख रहा है। कांग्रेस नीत एनडीए सरकार के खिलाफ बेहद सुनियोजित तरीके से चलाए गए […]

  • Yogendra-Yadav-Prashant-Bhushan-Manish-Sisodia-and-Arvind-Kejriwal-File-Photo-e1425484223593
    दक्षिणपंथ की ओर “आप” ?
    Posted in: करेंट अफेयर्स, राजनीति

    —जावेद अनीस— नयी नवेली, सबसे अलग, अच्छी और भारतीय राजनीति में अमूल चूल बदलाव करने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी अपने पहले संकट से उबरी ही थी कि उसका एक और संकट सामने आ गया है, यह संकट उसके बाकि सियासी दलों से अलग होने के दावे पर ही सवालिया निशान है और […]

  • AAP Rebels
    योगेन्द्र यादव व प्रशांत भूषण की आत्मघाती राजनीति
    Posted in: राजनीति

    —वीरेन्द्र जैन— न्यूटन जैसे महान वैज्ञनिक के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने बिल्ली पाल रखी थी। एक बार जब उन्होंने देखा कि बाहर का दरवाजा बन्द होने के कारण बिल्ली और उसके छोटे बच्चे को बाहर खड़ा रहना पड़ा तो उन्होंने कारपेंटर को बुला कर कहा कि दरवाजे में एक बड़ा और एक […]

  • AAP-Delhi-Victory-2015
    आप से सीखो 8 सबक
    Posted in: राजनीति

    —डॉ. महेश परिमल— जिस तरह से अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव ने अप्रत्याशित सफलता प्राप्त की है, उससे मार्केटिंग के विद्यार्थियों और उनके गुरुओं को कई बातें समझने और समझाने का अवसर मिला है। यदि मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करने वाले मैनेजर आम आदमी पार्टी की पद्धति का अनुसरण करें, तो कई ऐसी […]

  • Arvind Kejriwal
    अरविन्द केजरीवाल के नाम खुला खत
    Posted in: राजनीति

    —वीरेन्द्र जैन— प्रिय अरविन्द, तुम्हें वह कविता बहुत पसन्द है- कोशिश करने वालों की हार नहीं होती। दिल्ली की अधूरी सत्ता छोड़ कर जाने के बाद तुमने हताश हुये बिना जो अथक कोशिश की थी विधानसभा चुनावों में मिली जबरदस्त विजय उसी का परिणाम है। यह विजय, केवल सीटों की जीत के लिए अधिकतम मतों […]

  • aap-victory-celebration_650x400_81423560714
    क्या आआपा इस ज्वाला को ज्योति बना सकेगी?
    Posted in: राजनीति

    —वीरेन्द्र जैन— जब दिल्ली विधान सभा चुनाव 2015 के बारे में चारों ओर भाजपा के औंधे मुँह गिरने की बातें कही जा रही हों तब आपको यह कथन चौंका सकता है कि दिल्ली के चुनावों में उसे भी एक बड़ी सफलता मिली है और वह है काँग्रेस मुक्त भारत की ओर बढने की दिशा में […]

  • aam-aadmi-party-BJPL
    दिल्ली के चुनावी परिणामों के संदेश
    Posted in: करेंट अफेयर्स, चुनाव, राजनीति

    —सूर्यकान्त धस्माना— दिल्ली के चुनावी दंगल के परिणाम आखिरकार पूरे देश दुनिया के समक्ष आ ही गये हैं। लगभग एक बरस तक राष्ट्रपति शासन का दर्द झेलने वाली दिल्ली की जागरूक जनता ने इस बार अपना मत एकपक्षीय रखा। पूर्वानुमानित आम आदमी पार्टी ने अप्रत्याषित एवं ऐतिहासिक जीत दर्ज की है, जबकि भारतीय जनता पार्टी […]

  • B9dM4lECAAA-o_s
    कल्पना से बड़ी जीत की सुनामी
    Posted in: करेंट अफेयर्स, चुनाव, राजनीति

    —प्रमोद भार्गव— आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में कल्पना से बड़ी जीत दर्ज कर ली है। इस आश्चर्य जनक जीत को अरविंद केजरीवाल के उत्साही समूह ने संभव बनाया है। साफ है,धन और जज्बे की जब लड़ाई होती है तो जुनून की सुनामी जीतती है। लेकिन ऐसा तब संभव होता है,जब व्यक्ति अपनी गलतियां दोहराने […]

  • AAP
    नये वामपंथ के रूप में उभरती आप
    Posted in: करेंट अफेयर्स, राजनीति

    —पार्थ उपाध्याय— दिल्ली के राजनैतिक दंगल में जिस तरह हलचल दिखाई पड़ रही है और आम आदमी का पड़ला भारी होता दिख रहा हैं  उससे राजनीति में कई संकेत उभरते हैं. अगर दिल्ली में केजरीवाल की सरकार बनती हैं तो इसे नये रूप में उभरे वामपंथी विचारों को मिली स्वीकृति के रूप में समझा जा […]

  • KIRAN__818818f
    किरण बेदी जी क्या लोकपाल बन गया?
    Posted in: राजनीति

    —विवेकानंद— अगस्त 2011 में देश भर में समाजसेवी अन्ना हजारे के आंदोलन की धूम थी। अरविंद केजरीवाल, किरण बेदी, प्रशांत-शांति भूषण, कुमार विश्वास, मनीष सिसौदिया जैसे अपने-अपने क्षेत्रों के विशेषज्ञों से सजी टीम अन्ना की मांग थी कि देश में लोकपाल की स्थापना की जाए ताकि भ्रष्टाचार पर लगाम लगाई जाए। आलम यह था कि […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in