Education

  • books
    खतरा पाठयपुस्तक ? वायवीय दावे और नफरत के बुलावे – सुभाष गाताडे
    Posted in: शिक्षा

    खतरा पाठयपुस्तक ? वायवीय दावे और नफरत के बुलावे —– सुभाष गाताडे —— क्या जीवित प्राणियों को हवा की जरूरत होती है, इसे प्रायोगिक तौर पर समझाने के लिए बिल्ली के बच्चे को मरने देना चाहिए ? उत्तर भारत में पाठयपुस्तकों की दुनिया में चर्चित एक प्रकाशक द्वारा पर्यावरण विज्ञान के लिए वितरित की गयी […]

  • kashmir-students
    कश्मीर: बच्चों को बचा लो !
    Posted in: राजनीति

    कश्मीर के नौनिहाल किस ओर —– सुभाष गाताडे —— अगर हिंसा में स्थगन को चीज़ों के सामान्य होने का पैमाना मान लें, तब कहा जा सकता है कि कश्मीर में अब सामान्य स्थिति तेजी से बहाल हो रही है। इस मामले में बोर्ड के इम्तिहानों का ‘सफल सम्पन्न’ होने की ख़बर को भी देखा जा […]

  • Madrasa
    मदरसे, आधुनिक शिक्षा और ताजा विवाद
    Posted in: शिक्षा, सांप्रदायिकता

    —–जावेद अनीस—— हर फैसले का एक परिपेक्ष होता है, महाराष्ट्र सरकार के उस फैसले को भी एक परिपेक्ष में देखने की जरूरत है जिसमें निर्णय लिया गया है कि जो मदरसे महाराष्ट्र सरकार का पाठ्यक्रम नहीं अपनायेंगे उन्हें स्कूल नहीं माना जाएगा, इसका मतलब है कि वहां पढ़ने वाले बच्चों को ‘आउट ऑफ स्कूल चिल्ड्रेन’ […]

  • Nehru
    नए हुक्मरानों की विभाजक राजनीति और जवाहरलाल नेहरू की विरासत
    Posted in: शिक्षा, सांप्रदायिकता

    – दिग्विजय सिंह –  आमतौर पर सुब्रमण्यम स्वामी के बयानों को गंभीरता से नहीं लिया जाता लेकिन नेहरू के अनुयायी इतिहासकारों की किताबों को जला देने वाला उनका बयान उनके अन्य बयानों से थोडा अलग है . यह संघ की उस योजना का हिस्सा है जिसके अनुसार भारत के इतिहास में नेहरू जी के योगदान […]

  • Nalanda U
    नालंदा से फिर बहेगी ज्ञान की गंगा
    Posted in: शिक्षा

    – अरविंद जयतिलक यह सुखद है कि भारतीय इतिहास की महान विरासत नालंदा विश्वविद्यालय 800 साल बाद फिर खुल गयी है। शिक्षा के इस महान केंद्र के प्रति लोगों में कितना जबरदस्त आकर्षण है इसी से समझा जा सकता है कि पहले ही सत्र में देश-दुनिया से दाखिले के लिए एक हजार से ज्यादा छात्रों […]

  • 2807201413
    ‘प्रयत्न’ जैसी संस्थाएं संवार सकती हैं निर्धन बच्चों की तक़दीर
    Posted in: बच्चे, शिक्षा, समाज

    -डॉ. गीता गुप्त- भले ही भारत में चौदह वर्ष तक के बच्चों के लिए नि:शुल्क अनिवार्य शिक्षा अधिनियम लागू हो, मगर अभी भी लाखों बच्चे शिक्षा से वंचित हैं। रोज़ी-रोटी की तलाश में गांव से शहर की ओर प्रस्थान करने वाले श्रमिक परिवारों के ऐसे बच्चे हमें अपने आसपास ही देखने को मिल जाते हैं, […]

  • 210720148
    शिक्षकों की मनमानी, बच्चों की परेशानी
    Posted in: शिक्षा

    – अमिताभ पाण्डेय- शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए केन्द्र और राज्य की सरकार ने इस वर्ष भी बजट में पहले की तुलना में अधिक राशि का प्रावधान किया है। इसके बाद भी शिक्षा के गलियारों में अव्यवस्था का आलम बरकरार है। अच्छी शिक्षा देने का दावा करने वाले निजी स्कूल सरकार के […]

  • 1407201412
    उच्च शिक्षा में सुधार की जरुरत
    Posted in: शिक्षा

    –अरविंद जयतिलक- शिक्षा व्यक्ति, समाज और राष्ट्र की प्रगति के लिए आवश्यक है। कहा गया है कि सा विद्या वा विमुक्तए। यानी शिक्षा मुक्ति देती है। अंधेरे से उजाले की ओर ले जाती है। प्रकाशमान करती है। चेतना का संचार करती है। जागरुक बनाती है। समाज में व्याप्त अंधविश्वास, असमानता और गैर-बराबरी को दूर करती […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in