Elections

  • bjp_congress
    मिशन 2019 से पहले 2018 की चुनौती कांग्रेस के लिये करो या मरो का सवाल – जावेद अनीस
    Posted in: चुनाव, राजनीति

    मिशन 2019 से पहले 2018 की चुनौती कांग्रेस के लिये करो या मरो का सवाल जावेद अनीस इस साल के अंत तक मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में चुनाव होने है. यह सही मायनों में 2019 में होने वाले देश के आम चुनाव का सेमीफाइनल होगा जिसमें तीन बड़े राज्यों में देश की दोनों प्रमुख […]

  • india-elections
    धर्म के नाम पर युवाओं का ध्रुवीकरण
    Posted in: सांप्रदायिकता

    धर्म के नाम पर युवाओं का ध्रुवीकरण —– शैलेंद्र चौहान —— आज हर चुनाव के पहले धर्म के नाम पर वोटों का ध्रुवीकरण किए जाने की कोशिश होती है. देश में धर्म के नाम पर विशेषकर युवाओं का भावनात्मक रूप से ध्रुवीकरण  किया जाता रहा है. राजनीति के गलियारों में चलने वाली साम्प्रदायिकता की ज़हरीली […]

  • 0a64d7f7f0_votecampain
    एक दिवस मतदाता-जागरूकता के नाम
    Posted in: चुनाव, लोकतंत्र

    एक दिवस मतदाता-जागरूकता के नाम —– डॉ0गीता गुप्त —— लोकतान्त्रिक प्रणाली में मतदान का बहुत महत्त्व है. इसके माध्यम से जनता शासन-व्यवस्था में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकती है लेकिन भारत में यह अनिवार्य नहीं है. लोकतन्त्र की सुदृढ़ता हेतु आदर्श यही है कि प्रत्येक वयस्क नागरिक चुनावों में मतदान करे.परन्तु विडम्बना यह है कि […]

  • 1733_l_democracy-l
    चुनावी राजनीति बनाम भारतीय लोकतंत्र
    Posted in: चुनाव

    चुनावी राजनीति बनाम भारतीय लोकतंत्र —– जावेद अनीस —— जिस रोज भारत का सर्वोच्च न्यायालय फैसला दे रहा था कि धर्म, जाति, समुदाय, भाषा के नाम पर वोट मांगना गैरकानूनी है उसी दिन लखनऊ में बीजेपी की रैली थी और वहां उत्तर प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य “जय श्री राम” का नारा लगाते हुए […]

  • assembly-polls-evm-pti_650x400_61463367015
    पांच राज्यों में बजा चुनाव का बिगुल
    Posted in: चुनाव

    पांच राज्यों में बजा चुनाव का बिगुल ——- अवधेश कुमार ——- तो चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के चुनाव का बिगुल बजा दिया। नोटों का वापसी के बाद यह पहला चुनाव है। इसलिए भी इसका महत्व है, क्योंकि कुछ लोग इसे नोटवापसी पर जनता की राय के रूप में देखेंगे। देश के करीब 16 करोड़ […]

  • Indian Youth
    धर्म के नाम पर युवाओं का ध्रुवीकरण घातक है
    Posted in: सांप्रदायिकता

    ——–शैलेंद्र चौहान——— आज हर चुनाव के पहले धर्म के नाम पर वोटों का ध्रुवीकरण किए जाने की कोशिश होती है. लेकिन अब देश में धर्म के नाम पर युवाओं का ध्रुवीकरण  किया जा रहा है. राजनीति के गलियारों में चलने वाली साम्प्रदायिकता की ज़हरीली हवा समाज में इस कदर घुल रही है कि इसका प्रभाव […]

  • 3febraipur6_06_02_2015
    मध्यप्रदेश में पंचायत चुनाव,महिलाऐं और मीडि़या कवरेज
    Posted in: मध्य प्रदेश, महिला

    ——उपासना बेहार——– मध्यप्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2014-15 संपन्न हो चुके हैं। पंचायत राज के स्थापना के बाद से स्थानीय स्वशासन में महिलाओं की भागीदारी को लेकर सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिले हैं। महिलाओं ने चुनौतियों का सामना करते हुए अपने भागीदारी को लेकर जबरदस्त उत्साह दिखाया है। पिछले दो दशकों में पंचायतों में महिलाओं […]

  • Electoral
    दलों की अधिमान्यता के नियमों में सुधार की आवश्यकता
    Posted in: चुनाव, लोकतंत्र

    —-वीरेन्द्र जैन—- हमारे देश में लगभग 1807 पंजीकृत दलों में से छह  राष्ट्रीय और 64 प्रादेशिक दल अधिमान्य हैं। इन दलों की अधिमान्यता का कुल मतलब इतना है कि आम चुनावों के समय इन दलों के प्रत्याशियों को समान चुनाव चिन्ह आरक्षित रहता है, और सरकारी मीडिया पर इन्हें अपनी बात कहने के लिए कुछ […]

  • AAP-Delhi-Victory-2015
    आप से सीखो 8 सबक
    Posted in: राजनीति

    —डॉ. महेश परिमल— जिस तरह से अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव ने अप्रत्याशित सफलता प्राप्त की है, उससे मार्केटिंग के विद्यार्थियों और उनके गुरुओं को कई बातें समझने और समझाने का अवसर मिला है। यदि मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करने वाले मैनेजर आम आदमी पार्टी की पद्धति का अनुसरण करें, तो कई ऐसी […]

  • voting-compulsory
    अनिवार्य मतदान का औचित्य
    Posted in: चुनाव, लोकतंत्र

    – प्रमोद भार्गव – गुजरात राज्य में होने वाले निकाय चुनावों में अनिवार्य मतदान का कानून लागू कर दिया गया है। अब जो मतदाता मतदान नहीं करेंगे उन्हें दण्डित भी किया जाएगा। हालांकि मतदान न करने वालों को क्या सजा मिलेगी,इसके नियम अब गुजरात सरकार बनाएगी।   अनिवार्य मतदान लागू कर गुजरात देश का ऐसा पहला […]

  • 061020143
    सामाजिक आदर्श और हमारा लोकतंत्र
    Posted in: राजनीति, लोकतंत्र

    -वीरेन्द्र जैन- हाल ही के लोकसभा चुनावों में एक करोड़ इक्यासी लाख वोट लेकर तामिलनाडु में अपनी पार्टी को 95 प्रतिशत सीटें जिताने वाली सुश्री जय ललिता को आय से अधिक सम्पत्ति रखने के आरोप में जेल जाना पड़ा, और वे ऐसी पहली मुख्यमंत्री नहीं है जिन्हें अदालत के फैसले के बाद पद त्यागने को […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in