Politics

  • rti
    पारदर्शी तंत्र से क्यों डरती है राजनीति? – हरे राम मिश्र
    Posted in: समाज, सूचना का अधिकार

    पारदर्शी तंत्र से क्यों डरती है राजनीति? —– हरे राम मिश्र —– उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के आनन्द प्रकाश ने अपने गांव के प्रबंधकीय और सहायता प्राप्त स्कूल में संदिग्ध दस्तावेजों के सहारे अध्यापन कर रही गांव की एक महिला और उसके परिवारीजनों के शैक्षणिक दस्तावेज तथा संबंधित विद्यालय की मान्यता पत्रावली की छाया […]

  • indian-politics
    भारतीय राजनीति का व्यवहारिक दर्शन और अदृश्य सिद्धांत – शैलेन्द्र चौहान
    Posted in: राजनीति

    भारतीय राजनीति का व्यवहारिक दर्शन और अदृश्य सिद्धांत —– शैलेन्द्र चौहान —— बीजेपी में अमित शाह को सियासत में रणनीति का मास्टर माना जाता है। तो कुछ ऐसी ही पहचान कांग्रेस में अहमद पटेल की है। इस बार गुजरात राज्यसभा चुनाव को दोनों के बीच रणनीति की होड़ ने सबसे रोमांचक मुक़ाबले में तब्दील कर […]

  • 525900-parliament-120516
    राजनीतिक दलों में शुचिता और नैतिकता के अलग-अलग पैमाने – योगेन्द्र सिंह परिहार
    Posted in: राजनीति

    राजनीतिक दलों में शुचिता और नैतिकता के अलग-अलग पैमाने —– योगेन्द्र सिंह परिहार —— वैसे तो राजनीति शब्द को सुनने मात्र से हर एक व्यक्ति के दिमाग में एक ही बात सामने आती है कि राजनीति का मतलब सिर्फ चाल-बाजियां, बदमाशी और कुटिलता ही है । जबकि राज-काज को सुचारू रूप से चलाने के लिए […]

  • modi-speech-696x347
    राष्ट्रीय राजनीति में वाक्पटुता – वीरेन्द्र जैन
    Posted in: राजनीति

    राष्ट्रीय राजनीति में वाक्पटुता —— वीरेन्द्र जैन ——- चुनावी राजनीति में जनता से संवाद करना होता है जिसके लिए सार्वजनिक सभायें, टीवी पर बहसों आदि का बड़ा महत्व होता है और इस सब के लिए नेतृत्व में संवाद कुशल व्यक्तियों का होना जरूरी होता है। इस समय नरेन्द्र मोदी भारतीय राजनीति के शिखर पुरुष हैं। […]

  • cow
    गोमांसः समाज को बांटने वाला एक और मुद्दा
    Posted in: विशेष

    गोमांसः समाज को बांटने वाला एक और मुद्दा —–राम पुनियानी ——- गोरक्षा के मुद्दे पर पहला बड़ा आंदोलन आज से ठीक 50 वर्ष पूर्व (नवंबर 1966) हुआ था और तब से यह मुद्दा जिंदा है। इसी मुद्दे को लेकर हाल में मोहम्मद अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। इस मुद्दे को लेकर हिंसा होती […]

  • No-Right-Turn
    धर्म, राजनीति और समाज
    Posted in: समाज

    —राम पुनियानी— धर्म का राजनीति से क्या लेनादेना है? धर्म और हिंसा का क्या संबंध है? वर्तमान समय में, विभिन्न राजनैतिक एजेण्डे कौनसा रूप धर कर हमारे सामने आ रहे हैं? ऐसा लगता है कि राजनीति ने धर्म का चोला ओड़ लिया है और यह प्रवृत्ति दक्षिण व पश्चिम एशिया में अधिक नजर आती है। […]

  • jayanti natrajan
    जयंती नटराजन के पीछे कौन?
    Posted in: राजनीति

    —राजेन्द्र चतुर्वेदी— पूर्व केंद्रीय मंत्री जयंती नटराजन को अचानक ख्याल आ गया है कि करीब एक वर्ष पहले तो उनके साथ बहुत गलत हुआ था, तो यह महज संयोग नहीं है। यह भी संयोग नहीं है कि उनके द्वारा पांच नवंबर-2014 को सोनिया गांधी को लिखे गये पत्र ने भी लीक होने में करीब तीन […]

  • amit shah
    उधार के सिन्दूर से सुहागिन होती भाजपा
    Posted in: राजनीति

    –वीरेन्द्र जैन– अगर भाजपा यह बात केवल प्रचारित ही नहीं करती अपितु उस पर भरोसा भी करती है कि उसे गत लोकसभा चुनाव में दुनिया के इस सबसे बड़े लोकतंत्र के लिए डाले गये वोटों में से जो मत मिले हैं वे राजनीतिक रूप से चेतन मतदाताओं द्वारा बिना किसी लोभ लालच से दिये गये […]

  • 7161_modi_blackmoney
    काले धन के अनसुलझे रहस्य
    Posted in: राजनीति

    – मनोरमा शर्मा डोबिरियाल, राज्यसभा सांसद – काला धन पिछले कुछ सालों से एक रहस्य बना हुआ है। यह वही अनसुलझा रहस्य है जिसने भारतीय राजनीतिक क्षेत्र में एक भूचाल ला दिया है। इसी के बलबूते ही वर्तमान सरकार अपनी सत्ताधारी स्थिति तक पहुंची है। इस समय प्रधानमंत्री पदधारी मोदी ने 16वें आमचुनाव की रैलियों में […]

  • there-is-no-gambling-like-politics-quote-1
    दीपावली पर विशेष : क्या राजनीति एक जुआ और जुआ एक युद्ध है?
    Posted in: राजनीति, विशेष

    – वीरेन्द्र जैन – दीपावली, जिसका संक्षिप्त रूप दीवाली है और यह मुख्य रूप से हिन्दी भाषी क्षेत्र के हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार है। अधिक बाजार चलने के कारण यह वस्तु उत्पादन से जुड़े सभी धर्मों के मानने वालों के लिए भिन्न भिन्न कारणों से महत्वपूर्ण हो जाता है और सभी धर्मों के कारीगरों और […]

  • OBC Card
    अस्मितावादी चासनी में पिछड़ा
    Posted in: राजनीति

    – राजीव यादव – पिछले दिनों भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दिवंगत भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे को मुख्यमंत्री बनाने का संकेत यह कहते हुए दिया कि हमें संकल्प लेना चाहिए कि हम पंकजा के नेतृत्व में सभी पिछड़ी जातियों के लिए न्याय पाने का कार्य जारी रखेंगे। भाजपा पंकजा को मुख्यमंत्री […]

  • 061020146
    लोकतंत्र के लिए चुनौती भरे दिन
    Posted in: आंतंकवाद, राजनीति, सांप्रदायिकता

    -गुफरान सिद्दीकी- समझौता एक्सप्रेस, मालेगांव और मक्का मस्जिद में हुए आतंकवादी हमले की आरोपी साध्वी प्रज्ञा ​सिंह ठाकुर के साथ, लगभग पांच साल पहले किसी गोपनीय वैठक में अपनी तस्वीर के सार्वजनिक हो जाने से चर्चा में रह चुके राजनाथ सिंह एक बार फिर गलत कारणों से चर्चा मे हैं। बेशक इस बार देश के […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in