Ram Puniyani

  • tippu-sultan-nov6
    टीपू सुल्तानः विविध आख्यान – राम पुनियानी
    Posted in: राजनीति, सांप्रदायिकता

    टीपू सुल्तानः विविध आख्यान —-राम पुनियानी—- पिछले कुछ सालों से, 10 नवंबर के आसपास, भाजपा, टीपू सुल्तान पर कीचड़ उछालने का अभियान चलाती रही है। पिछले तीन सालों से कर्नाटक सरकार ने आधिकारिक तौर पर टीपू की जयंती मनाना शुरू कर दिया है। टीपू सल्तान देश के एकमात्र ऐसे राजा हैं जिन्होंने अंग्रेज़ों के खिलाफ […]

  • People hold placards and candles during a vigil for Gauri Lankesh, a senior Indian journalist who according to police was shot dead outside her home on Tuesday by unidentified assailants in southern city of Bengaluru, in Ahmedabad, India, September 6, 2017. REUTERS/Amit Dave
    नफरत फैलाने वाली विचारधारा ने की गौरी लंकेश की हत्या – राम पुनियानी
    Posted in: असहिष्णुता, सांप्रदायिकता

    नफरत फैलाने वाली विचारधारा ने की गौरी लंकेश की हत्या —राम पुनियानी— गौरी लंकेश की गत 5 सितंबर, 2017 को बेंगलुरू में हुई हत्या से उन लोगों को गहरा धक्का लगा है जो प्रगतिशील और उदारवादी मूल्यों के हामी हैं। कई हिन्दुत्ववादी ‘ट्रोलों’ ने इस हत्या का जश्न मनाया। इनमें से कई ट्रोल ऐसे हैं […]

  • bengaluru-hindustan-lynching-against-support-protest-campaign_2d0ccd42-5c03-11e7-9d38-39c470df081e
    गाय के नाम पर – राम पुनियानी
    Posted in: समाज, सांप्रदायिकता

    गाय के नाम पर —- राम पुनियानी —– दिल्ली के बाहरी इलाके में एक ट्रेन में जुन्नैद की पीट-पीटकर हत्या (जून 2017) की लोमहर्षक घटना से समाज के एक बड़े वर्ग का धैर्य का बांध टूट गया है। देश के विभिन्न भागों में बड़ी संख्या में लोग इस घटना के विरोध में स्वमेव सड़कों पर उतर […]

  • sc-kskh-621x414livemint
    बाबरी मस्ज़िद-राममंदिर विवादः न्याय ज़रूरी – राम पुनियानी
    Posted in: न्यायपालिका

    बाबरी मस्ज़िद-राममंदिर विवादः न्याय ज़रूरी —–राम पुनियानी ——- एक लंबे इंतज़ार के बाद, उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति जेएस खेहर ने कहा है कि काफी समय से लंबित रामजन्मभूमि बाबरी मस्ज़िद विवाद का हल न्यायालय के बाहर निकाला जाना चाहिए। उन्होंने इस मसले को सुलझाने के लिए मध्यस्थ की भूमिका निभाने का प्रस्ताव भी […]

  • ambedkar_hindutva
    पुस्तक समीक्षा :अंबेडकर और हिन्दुत्व-राम पुनियानी
    Posted in: किताब समीक्षा

    पुस्तक समीक्षा अंबेडकर और हिन्दुत्व-राम पुनियानी ——– इरफान इंजीनियर और नेहा दाभाड़े —— भारतीय समाज इन दिनों मानो एक चैराहे पर खड़ा है। एक ओर दलितों के विरूद्ध क्रूर हिंसा हो रही है, जैसा कि हमने ऊना में देखा, तो दूसरी ओर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वयं को ‘अंबेडकर भक्त’ बता रहे हैं और अंबेडकर की तुलना […]

  • cow
    गोमांसः समाज को बांटने वाला एक और मुद्दा
    Posted in: विशेष

    गोमांसः समाज को बांटने वाला एक और मुद्दा —–राम पुनियानी ——- गोरक्षा के मुद्दे पर पहला बड़ा आंदोलन आज से ठीक 50 वर्ष पूर्व (नवंबर 1966) हुआ था और तब से यह मुद्दा जिंदा है। इसी मुद्दे को लेकर हाल में मोहम्मद अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। इस मुद्दे को लेकर हिंसा होती […]

  • islamophobia
    समकालीन वैश्विक संकट के पीछे धर्म है या राजनीति? -राम पुनियानी
    Posted in: विश्व जगत

    समकालीन वैश्विक संकट के पीछे धर्म है या राजनीति? —– राम पुनियानी —— वैश्विक स्तर पर ‘इस्लामिक आतंकवाद’ शब्द बहुप्रचलित हो गया है और इस्लाम के आंतरिक ‘संकट’ की कई तरह से विवेचना की जा रही है। कुछ लोगों की राय है कि इस्लाम एक बहुत बड़े संकट के दौर से गुज़र रहा है और इस […]

  • Debating-Secularism-2015
    धर्मनिरपेक्षता के बदले ‘इंडिया फर्स्टन’ का पैंतरा
    Posted in: राजनीति

    धर्मनिरपेक्षता के बदले ‘इंडिया फर्स्‍ट‘ का पैंतरा ——-राम पुनियानी——— गूगल “धर्मनिरपेक्षता की धारणा पर कुछ हद तक सवाल खड़े करते हुए संविधान दिवस (26 नवंबर 2015) के आयोजन ने इस बहस को एक बार फिर से खड़ा कर दिया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उस दलील को दोहराया जिसे राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ परिवार अर्से से […]

  • Brewing-Controversy
    क्या वाकई थम गई पुरस्कार वापसी मुहिम?
    Posted in: राजनीति

    क्या वाकई थम गई पुरस्कार वापसी मुहिम? ——-राम पुनियानी——– “बिहार चुनाव के नतीजे आने का बाद सोशल मीडिया पर इन दिनों एक कविता काफी प्रसारित हो रही है। इस कविता में कहा जा रहा है कि अब कहीं से भी गोमांस, सम्मान वापसी, अरहर दाल की बढ़ती कीमतों को लेकर कोई बयान नहीं आ रहा […]

  • Returning-honors-is-an-attempt-to-save-democracy
    पुरस्कार वापसी प्रजातंत्र को बचाने का प्रयास है
    Posted in: करेंट अफेयर्स, समाज

    पुरस्कार वापसी प्रजातंत्र को बचाने का प्रयास है ——-राम पुनियानी——— पिछले कुछ हफ्तों में बड़ी संख्या में लेखकों, वैज्ञानिकों और कलाकारों ने उन्हें सरकार द्वारा दिए गए पुरस्कार लौटाए हैं। यह इन लोगों का विरोध व्यक्त करने का अपना तरीका है। देश में बढ़ती असहिष्णुता और हमारे बहुवादी मूल्यों के क्षरण के विरूद्ध शिक्षाविदों, इतिहासविदों, […]

  • No-Right-Turn
    धर्म, राजनीति और समाज
    Posted in: समाज

    —राम पुनियानी— धर्म का राजनीति से क्या लेनादेना है? धर्म और हिंसा का क्या संबंध है? वर्तमान समय में, विभिन्न राजनैतिक एजेण्डे कौनसा रूप धर कर हमारे सामने आ रहे हैं? ऐसा लगता है कि राजनीति ने धर्म का चोला ओड़ लिया है और यह प्रवृत्ति दक्षिण व पश्चिम एशिया में अधिक नजर आती है। […]

  • 29Fir04.qxp
    हवा का रूख भांपने की कवायद
    Posted in: राजनीति, सांप्रदायिकता

    समाजवाद और धर्मनिरपेक्षता शब्द संविधान की उद्देश्यिका से गायब हवा का रूख भांपने की कवायद —राम पुनियानी— शब्द केवल शब्द नहीं होते-विशेषकर तब, जबकि वे संविधान जैसी महत्वपूर्ण पुस्तक के हिस्से हों। वे हमारी प्रतिबद्धताओं और हमारे मूल्यों को इंगित करते हैं। हाल में, गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर, मोदी सरकार द्वारा जारी किये […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in