Terror

  • mulk-first-day-box-office-collection
    फिल्म समीक्षा के बहाने फिल्म – मुल्क – वीरेन्द्र जैन
    Posted in: फिल्म समीक्षा

    फिल्म समीक्षा के बहाने फिल्म – मुल्क वीरेन्द्र जैन अनुभव सिन्हा की यह फिल्म पिछले दिनों आयी फिल्म ‘पिंक’ की श्रेणी में रखी जा सकती है जिसमें अदालती बहस के माध्यम से किसी विषय पर रोशनी डालने का तरीका अपनाया जाता है। बहरहाल यह फिल्म किसी सच्ची घटना के आस पास से गुजरते हुए बनायी […]

  • terrorist-terrorism-quotes12
    धर्म से कोई लेनादेना नहीं है आतंकवाद का; उसकी जड़ में है राजनीति – राम पुनियानी
    Posted in: असहिष्णुता, आंतंकवाद

    धर्म से कोई लेनादेना नहीं है आतंकवाद का; उसकी जड़ में है राजनीति राम पुनियानी समकालीन राजनीति धर्म का लबादा ओढ़े हुए है। चाहे वह साम्राज्यवादी देशों की कच्चे तेल के संसाधनों पर कब्जा करने की राजनीति हो, या दक्षिण एशियाई देशों में जन्म-आधारित असमानता थोपने की राजनीति – दोनों ही धर्म की बैसाखियों का […]

  • 1
    क्या आतंकवाद को धर्म से जोड़ा जाना चाहिए? – राम पुनियानी
    Posted in: आंतंकवाद, विशेष

    क्या आतंकवाद को धर्म से जोड़ा जाना चाहिए? राम पुनियानी पूरे विश्व, और विशेषकर पश्चिम और दक्षिण एशिया, में भयावह आतंकी हमले होते आए हैं जिनमें सैकड़ों निर्दोष लोग मारे गए हैं। मुंबई पर 26/11/2008 को हुए आतंकी हमले में मारे गए लोगों में हिन्दू और मुसलमान दोनों ही शामिल थे। बेनजीर भुट्टो, आतंकियों की […]

  • muslims
    मुस्लिम समुदाय में सुधार: समग्र दृष्टिकोण अपनाने की जरूरत – -राम पुनियानी
    Posted in: अल्पसंख्यकों

    मुस्लिम समुदाय में सुधार: समग्र दृष्टिकोण अपनाने की जरूरत राम पुनियानी हर्ष मंदर के लेख (द इंडियन एक्सप्रेस, मार्च 7, 2018) “सोनिया सेडली” और रामचंद्र गुहा के उसके प्रतिउत्तर में इसी समाचारपत्र में प्रकशित आलेख “लिबरल्स ओ” ने भारत में मुस्लिम समुदाय की स्थिति और उसमें सुधार की प्रक्रिया पर नए सिरे से एक बहस […]

  • 1477921157_simi-encounter
    भोपाल एनकाउंटर : सवाल दर सवाल
    Posted in: विशेष

    भोपाल एनकाउंटर : सवाल दर सवाल   —— जावेद अनीस ——- इस देश में एनकाउंटर का स्याह इतिहास है और इसको लेकर हमेशा से ही विवाद रहा है. आम तौर पर एनकाउंटर के साथ फर्जी शब्द जरूर जुड़ता है. मध्यप्रदेश के 61वें स्थापना दिवस से ठीक एक दिन पहले यहाँ भी एक ऐसा ही एनकाउंटर हुआ है जो अपने पीछे […]

  • Paris
    आतंकवाद पर एक पूर्वाग्रह मुक्त दृष्टि से सोचना आवश्यक है
    Posted in: आंतंकवाद

    ———शैलेन्द्र चौहान——— आखिर आईएस उर्फ़ इस्लामिक स्टेट है क्या, किन कारणों से यह अस्तित्व में आया ? इस संगठन का प्रचलित नाम था आईएसआईएस अर्थात् ‘इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया’, इसके कई नाम हैं जैसे आईएसआईएल्, दाइश आदि। आईएसआईएस के नाम से इस संगठन का गठन अप्रैल 2013 में किया गया था। इब्राहिम अव्वद अल-बद्री उर्फ अबु बक्र अल-बगदादी […]

  • rajan4
    इतनी आसानी से पकड़ा गया हिंदू डॉन!
    Posted in: करेंट अफेयर्स

    ——-डॉ. महेश परिमल——– पिछले दिनों मीडिया में दोपहर बाद दो तरह के भूकंप आए। पहला तो अफगानिस्तान में आया भूकंप था, दूसरा भूकंप था, छोटा राजन के गिरफ्तार होने का। इस पर सहसा विश्वास नहीं होता। पर यह सच है कि छोटा राजन गिरफ्तार हो गया। उसकी गिरफ्तारी के बाद मीडिया में कहीं उसे ईमानदार और सच्चा डॉन बताया […]

  • sanatan-300x259
    सेने से नफरत, सनातन पर इनायत ?
    Posted in: सांप्रदायिकता

    ——सुभाष गाताडे——- उत्तरी गोवा में स्थित बण्डोरा गांव के पंचायत का एक फैसला पिछले दिनों मुल्क के पैमाने पर सूर्खियां बना। न उन्होंने किसी नए सड़क की मांग की थी और न किसी स्कूल की मांग की थी, उनकी एक छोटीसी मांग थी कि उनके गांव पंचायत में बसी एक संस्था पर सरकार पाबंदी लगा […]

  • GURDASPUR-HT1
    शरीफ साहब! आतंक की जमीन पर शांति की फसल नहीं उगती
    Posted in: आंतंकवाद

    ——जगजीत शर्मा——– वैसे भारत में सांप को दूध पिलाने की परंपरा काफी पुरानी है। सावन के महीने में तो सांप को दूध पिलाने की कोशिश मान्यताओं को मानने वाला हर हिंदू करता है। इसके बावजूद आस्तीन में सांप पालना कोई नहीं चाहता है। आस्तीन में पलने वाले सांप काटते जरूर हैं। ‘आस्तीन में सांप पालनेÓ […]

  • police_647_072715064244
    कब तक बर्दाश्त करें आतंक के इस दंश को?
    Posted in: आंतंकवाद

    —–सिद्धार्थ शंकर गौतम—— 30 जुलाई को मुंबई बम धमाकों के आरोपी याकूब मेनन की प्रस्तावित फांसी, 26 जुलाई को कारगिल विजय का जश्न और सोमवार 27 जुलाई को तड़के पंजाब के गुरदासपुर जिले के दीनानगर पुलिस थाने पर आतंकी हमला; देखने पर ये तीनों घटनाएं भले ही अलग प्रतीत हों किन्तु इनके बीच समानता की […]

  • modi-nawaz-_647_071415105858
    आतंक पर लगाम बिना बातचीत का औचित्य नहीं
    Posted in: विदेश नीति

    ——सिद्धार्थ शंकर गौतम—— बीते हफ्ते शुक्रवार को रूस के उफा में हिंदुस्थानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपने समकक्ष पाक प्रधान नवाज़ शरीफ से हुई मुलाक़ात के कई गहरे अर्थ निकाले जा सकते हैं। हालांकि शुक्रवार को दोनों की मुलाक़ात के बाद जारी साझा बयान में कश्मीर मुद्दे का जिक्र नहीं था किन्तु एक दिन बाद […]

  • warrior_lord_ram-t3
    आतंक के संदर्भ में राम की प्रासंगिकता
    Posted in: आंतंकवाद, विशेष

    संदर्भ:- रामनवमी 28 मार्च- —प्रमोद भार्गव— दुनिया में बढ़ रहे आतंकवाद को लेकर अब जरूरी हो गया है कि इनके समूल विनाश के लिए भगवान राम जैसी सांगठनिक शक्ति और दृढंता दिखाई जाए। आतंकवादियों की मंशा दहशत के जरिए दुनिया को इस्लाम धर्म के बहाने एक रूप में ढालने की है। जाहिर है, इससे निपटने […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in