Women

  • gap-jpg
    क्या भारतीय महिलाएँ सचमुच आर्थिक असमानता की शिकार हैं ? – डाॅ0 गीता गुप्त
    Posted in: महिला, समाज

    क्या भारतीय महिलाएँ सचमुच आर्थिक असमानता की शिकार हैं ? —- डाॅ0 गीता गुप्त —- नवम्बर 2017 में विश्व आर्थिक मंच ने स्त्री-पुरुष असमानता सूचकांक जारी किया है। तदनुसार, भारत में दो तिहाई महिलाएँ बिना वेतन के घरेलू कामकाज और सदस्यों की देखभाल जैसे महत्त्वपूर्ण काम करती हैं। रपट के मुताबिक़, 66 प्रतिशत महिलाओं के […]

  • saudi-woman-drive
    सउदी अरब की महिलाएँ अब चला सकेंगी कार – डाॅ0 गीता गुप्त
    Posted in: महिला, विश्व जगत

    सउदी अरब की महिलाएँ अब चला सकेंगी कार — डाॅ0 गीता गुप्त — वैसे तो दुनिया के सभी देशों में महिलाओं के अधिकार को लेकर मतभेद व्याप्त हैं । किन्तु सऊदी अरब इकलौता ऐसा देश है, जहाँ आज भी महिलाओं पर कई तरह के प्रतिबन्ध हैं। वैश्वीकरण के मौजूदा दौर में उनपर लगे कुछ प्रतिबन्ध […]

  • culture-machine-featured
    मुश्किल दिनों में छुट्टी कितनी जायज़ ? – डाॅ0 गीता गुप्त
    Posted in: महिला

    मुश्किल दिनों में छुट्टी कितनी जायज़ ? —– डाॅ0 गीता गुप्त —– हाल ही में मुम्बई की कल्चर मशीन फर्म और गोजुप ने नयी स्त्री हितैषी योजना के अन्तर्गत महिला कर्मचारियों के लिए मासिक धर्म के पहले दिन अवकाश देने की घोषणा की है। कल्चर मशीन फर्म में 75 महिलाएँ कार्य करती हैं। उल्लेखनीय बात […]

  • naga-women
    नगालैंड की इस हिंसा पर क्या कहें
    Posted in: महिला

    नगालैंड की इस हिंसा पर क्या कहें —- अवधेश कुमार —— नगालैंड की हिंसा विचलित करने वाली है। देश के अन्य भागों में इसकी कल्पना नहीं की जा सकती है कि स्थानीय निकायों में महिलाओं के लिए आरक्षण का ऐसा तीखा विरोध हो सकता है। इस समय देश के केन्द्रीय संसद एवं विधानसभाओं मेें महिलाओं […]

  • gender-equality
    पुरूषों को भी “स्त्री मुक्ति” का गीत गाना होगा
    Posted in: महिला

    सन्दर्भ – राष्ट्रीय बालिका दिवस, 24 जनवरी पुरूषों को भी “स्त्री मुक्ति” का गीत गाना होगा —— जावेद अनीस —— तकनीकी रूप से बेंगलुरु को भारत सबसे आधुनिक शहर मना जाता है लेकिन बीते साल की आखिरी रात में भारत की “सिलिकॉन वैली” कहे जाने वाले इस शहर ने खुद को शर्मशार किया है. रोशनी […]

  • women-empowerment
    कब तक चुप रहोगी और सहोगी, “तुम्हारे हौसले अधूरे हैं, उड़ान अभी बाकी है”
    Posted in: महिला

    कब तक चुप रहोगी और सहोगी, “तुम्हारे हौसले अधूरे हैं, उड़ान अभी बाकी है” —— सुमित कुमार —— एक नारी माँ  होती है, बहन होती है, बेटी होती है और भी कई रिश्ते होते हैं पर जब वह किसी सामाजिक रिश्ते में नहीं होती है तो वह दूसरों की नजर में तवायफ होती है, लेकिन […]

  • Smriti Irani
    भेदभावों को झुठलाना तो ठीक नहीं!
    Posted in: महिला

    संदर्भ: स्मृति ईरानी की टिप्पणी के खिलाफ छात्राओं का प्रदर्शन भेदभावों को झुठलाना तो ठीक नहीं! ——-कृष्ण प्रताप सिंह———- समझ में नहीं आता कि देश की हाईप्रोफाइल मानव संसाधनमंत्री स्मृति ईरानी के इस कथन को किस रूप में लिया जाये कि देश में महिलाओं को ‘पूरी स्वतंत्रता’ हासिल है और उनके साथ किसी स्तर पर […]

  • Malnutrition
    कुपोषण अब भी सबसे बड़ी चुनौती
    Posted in: गरीबी, समाज

    कुपोषण अब भी सबसे बड़ी चुनौती ——जगजीत शर्मा——- कुपोषण भारत की एक बड़ी समस्या है। आजादी से पहले और आजादी के बाद भी कुपोषण से मुक्ति का प्रयास लगातार रो रहा है, लेकिन समस्या कमोबेश आज भी बरकरार है। इस बात से कत्तई इनकार नहीं किया जा सकता है कि केंद्र और राज्य सरकारों ने […]

  • crime
    आखिर क्यों नहीं बदलती महिलाओं की दशा?
    Posted in: महिला, समाज

    ——-जगजीत शर्मा——– बीड :16 साल तक बेटी से रेप करने वाला पिता गिरफ्तार, दो बार किया गर्भवती। इंदौर : बेटी के साथ सौतेले पिता ने किया कथित रेप। गोवा : 10-वर्षीय बेटी के साथ कथित रेप, आरोपी पिता गिरफ्तार। मंदसौर: पिता ने एक वर्ष तक किया दस वर्षीय पुत्री से दुष्कर्म। ये अखबारों में छपी […]

  • Modi
    प्रचारक का स्त्राी चिन्तन ‘छप्पन इंच छाती का स्त्राी विमर्श’
    Posted in: महिला

    —–सुभाष गाताडे—— जुबां फिसलती है और शायद बहुत अनर्थ करा देती है। बांगलादेश की जनाब मोदी की ‘सफल यात्रा’ के बाद उनके हिमायती शायद यही सोचते हैं। यह अकारण नहीं कि ‘स्त्राी होने के बावजूद शेख हसीना द्वारा किए गए कामों की तारीफ कर’ बुरी तरह आलोचना का शिकार हुए प्रधानमंत्राी मोदी के चीअरलीडर्स का […]

  • weforpostcard
    पर्यावरण और महिलाएं
    Posted in: पर्यावरण

    —-उपासना बेहार—– महिलाओं का शुरू से ही प्रकृति से निकट्तम का संबंध रहा है। एक तरफ वो प्रकृति की उत्पादनकर्ता] संग्रहकर्ता तो दूसरी तरफ प्रबंधक] संरक्षक की भूमिका निभाती रही हैं। महिलाओं ने इसकी रक्षा के लिए कई आदोंलन चलाये और अपने प्राण देने से भी नही हिचकचायी। महिलाओं के पर्यावरण-संरक्षण में अतुलनीय योगदान को […]

  • Fire Temple
    क्या गोलरूख कान्टराक्टर को इन्साफ मिलेगा ? धर्म, परम्परा और स्त्रिायों के अधिकार
    Posted in: महिला, समाज

    —-सुभाष गाताडे—- क्या एक पारसी मूल की महिला , जिसने अपने समुदाय के बाहर शादी की है, वह अगियारी अर्थात अग्निघर – जो पारसी लोगों का पूजास्थल होता है – वहां पर पूजा कर सकती है या नहीं ? गोलरूख कान्टराक्टर नामक महिला जिसने आज से लगभग 25 साल पहले माहपाल गुप्ता से शादी की […]

Humsamvet Features Service

News Feature Service based in Central India

E 183/4 Professors Colony Bhopal 462002

0755-4220064

editor@humsamvet.org.in